• 1

    ‘दीदी… मुआवजा न मिला तो लड़िका भूख...

    रायबरेली। अपने खेत की बर्बादी का हाल दिखाने के लिए गेहूं की सड़ी बालियां अपने हाथों में लिए राम सजीवन (52 वर्ष) अपने क्षेत्र की सांसद सोनिया गांधी का ...

  • DSC06986

    उजड़े जंगल में फूंक दी जान...

    नुआपड़ा (ओड़ीशा)। देश के अधिकांश इलाकों में जहां लोग खुद ही अपने आसपास के पेड़-पौधों को काटकर खेत और घर बना रहे हैं, वहीं ओड़ीशा में एक गाँव के कुछ लो...

  • received_10153188654833735.jpeg

    सुशील, मीनाक्षी और ‘हरी-भरी’...

    एक हैं जे सुशील और एक हैं मीनाक्षी। और इनके संग रहती हैं एक सुंदर सी ‘हरी-भरी’। आपके मन में यह सवाल कौंध रहा होगा कि आखिर ये हरी भरी कौन ह...

  • logo

    कौशल विकास की राह में अड़ंगे...

    योजना में आए नए संशोधनों से निजी संस्थानों को हो रही परेशानी अतरोली (मोहनलालगंज)। ग्रामीण युवाओं के कौशल को विकसित कर उन्हें हुनरमंद बनाने के लिए चल र...

  • IMG-20150327-WA0002

    रोटी के लिए घर-घर काम करना मजबूरी...

    बाराबंकी/लखनऊ। घर पर अपने दो छोटे-छोटे बच्चों को छोड़कर रोज 23 किमी दूर से सीता देवी (35) शहर में अपने मालकिन के बच्चे की देखभाल करने के लिए आती है। य...

Post of the day
Edition 13

अधिकारी छुपा रहे किसानों की मौतें...

कई जिलों में किसानों की मौतों का सरकारी रिपोर्टो में जिक्र ही नहीं ललितपुर/बाराबंकी। बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान का कहर झेलने के बाद किसानों को सरकारी तंत्र की लापरवाही का सामना करना पड़ रहा है। जिन जिलों में सदमे से आधा दर्जन किसानों की जान चली गई, वहां से भेजी…