Post of the day
Editon 56

फर्जी वरासत भी कर देते हैं राजस्व अधिकारी...

लेखपाल का एक दस्तखत, फिर वर्षों लड़ते रहो मुकदमा गोविंदपुरी (महोना, लखनऊ)। रामकुमार अवस्थी (83 वर्ष) पिछले लगभग पंद्रह वर्षों से तहसील की भागदौड़ कर रहे हैं, ताकि वो खुद को अपने पिता महेश का बेटा साबित कर उनकी ज़मीन का हिस्सा पा सकें। वहीं, पवन कुमार शुक्ला तीन वर्षों से अपने नाना द्वारा उन्हें…