India’s Biggest

Rural Media Platform

बाराबंकी

बाराबंकी के खेतों में उग रहे ग्लैडियोलस के फूल 

ग्लैडियोलस के फूलों की खेती किसानों की कमाई का जरिया बनती जा रही है। आप भी अपने खेतों में बाराबंकी के किसानों की तरह ये फूल उगा सकते हैं।

मल्चिंग व ड्रिप तकनीक से तरबूज की खेती

बाराबंकी जिले के मलूकपुर गाँव के किसान अनिल कुमार वर्मा (49 वर्ष) मल्चिंग और ड्रिप तकनीक की मदद से अलग-अलग किस्मों के तरबूजों की खेती कर रहे हैं।

मधुमक्खी के हमले से घायल युवक को बिना इलाज लौटाया

मधुमक्खी के हमले में एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया, जब उसके परिजन उसे लेकर सीएचसी सिरौलीगौसपुर पहुंचे तो वहां पर तैनात डाक्टरों ने इलाज करने से मना कर दिया।  

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ में सहयोग कर रहे विद्यालय

केन्द्र सरकार द्वारा चलायी जा रही ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना में कई विद्यालय सहयोग कर रहे हैं। गरीब घरों की लड़कियों को कम या फिर मुफ्त में दी जा रही है शिक्षा। 

झाड़ू लगाने से लेकर अपने पशुओं के लिए खुद चारा काटता है बीजेपी का ये विधायक, देखिए वीडियो

बैजनाथ रावत इससे पूर्व में विधायक,सांसद और प्रदेश के ऊर्जा मंत्री भी रह चुके है, बावजूद इसके इनकी ईमानदारी और व्यवहार में कोई कमी नहीं आई ।

आलू के दामों में मामूली बढ़ोतरी, 300-450 कुंटल तक पहुंचीं कीमतें

आलू की कम कीमतों से परेशान आलू किसानों के लिए राहत की ख़बर है। आलू की कीमतों में 10-20 फीसदी का सुधार हुआ है। फिलहाल सफेद आलू 300 के आसपास तो लाल आलू 400 रुपये प्रति कुंटल तक मांगा जाने लगा है।

सूफी की दरगाह पर उड़ा सौहार्द का रंग, 12 कुंटल गुलाल से सराबोर हुए जायरीन

बाराबंकी के देवां में स्थित हाजी वारिश अली की दरगाह पर हमेशा की तरह प्रेम और सौहार्द के रंग उड़े। इस दरगाह पर सभी धर्मों के लोग एक साथ होली खेलते हैं।

करोड़ों का बजट पर किसानों को फायदा नहीं

टपक/फुहारा सिंचाई से पानी की बचत, लागत में कमी, उत्पादन में वृद्धि व उच्च गुणवत्ता की फसल होती है। केंद्र और राज्य सरकार दोनों मिलकर इस योजना के लिए मोटी सब्सिडी भी दे रहे हैं।

भारी सब्सिडी के बावजूद किसान नहीं कर रहे बूंद-बूंद सिंचाई योजना के लिए आवेदन

टपक/फुहारा सिंचाई से पानी की बचत, लागत में कमी और उत्पादन में वृद्धि, सरकार सब्सिडी भी देती है। करोड़ों रुपये का बजट भी खाते में है लेकिन लाभार्थियों की संख्या काफी कम है।