India’s Biggest

Rural Media Platform

दुनिया

मंत्रियों के बाद अब अधिकारियों की बारी, 15 दिन में देना होगा संपत्ति का ब्योरा

मुख्य संवाददाता

लखनऊ। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने सरकार के कामकाज के पहले ही दिन सोमवार को अफसरशाही के पेंच कसे। प्रदेश के सभी अफसरों को आदेश दिया गया है कि, वे अगले 15 दिन में अपनी संपत्ति का ब्योरा पेश करें। जिसमें उनकी और परिवार से जुड़ी चल-अचल संपत्ति की जानकारी देनी होगी। जबकि भारतीय जनता पार्टी के लोक कल्याण संकल्पपत्र के आधार पर सभी विभागों के अफसरों को जल्द से जल्द अपनी अपनी कार्ययोजना प्रस्तुत करने के लिए कहा है। ताकि जल्द से जल्द भाजपा के घोषणापत्र को जमीन पर लागू किया जा सके।

ये भी पढ़ें- सीएम बनने के बाद पहली बार एक्शन में योगी आदित्यनाथ, सभी मंत्रियों से मांगा संपत्ति को ब्योरा

अफसरों से बातचीत करने के बाद सीएम के टिवटर अकाउंट पर इस आशय की जानकारी पोस्ट की गई। जिसमें लिखा गया है कि उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त शासन उपलब्ध कराने के लिए ये फैसला किया गया है। शाम करीब 5:00 बजे इस आशय का टिवट किया गया। इसके अलावा सभी अफसरों को स्वच्छ भारत अभियान से जोड़ने के लिए स्वच्छता संबंधित शपथ दिलाई गई है। सीएम योगी ने कुछ अफसरों की आमने सामने बैठक की। जबकि अन्य जिलों के अफसरों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की। सभी अफसरों को ये निर्देश दिये गये हैं कि वे अपनी चल अचल संपत्ति की सत्य घोषणा 15 दिन के भीतर करें।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

टिवटर के जरिए ही जानकारी दी गई है कि अधिकारी ये घोषणा इसलिए करें ताकि भ्रष्टाचार मुक्त शासन दिया जा सके। अगले टिवट में जानकारी दी गई कि अफसरों और प्रमुख सचिवों को कहा गया है कि वे भाजपा के घोषणापत्र को पढ़ें। उसके आधार पर उनके विभाग को जो काम करने है उसके संबंध में एक कार्ययोजना बनाएं। ताकि विकास कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाया जा सके। तीसरे टिवट में सभी अफसरों को सफाई संबंधित शपथ दिलाने की जानकारी दी गई। केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान को लेकर कितनी गंभीर है और उसको प्रदेश में किस तरह से लागू करना है, उसके बारे में बताया गया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।