India’s Biggest

Rural Media Platform

राजनीति

जन वेदना सम्मेलन में राहुल गांधी ने कहा, नोटबंदी का कदम आरबीआई का नहीं, प्रधानमंत्री मोदी का व्यक्तिगत फैसला था

नई दिल्ली (आईएएनएस)| कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने जिन 'अच्छे दिनों' का वादा किया था, वे तब आएंगे जब 'कांग्रेस सत्ता में आएगी'।

राहुल ने कांग्रेस के जन वेदना सम्मेलन में अपने भाषण में कहा कि भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, न्यायपालिकाऔर निर्वाचन आयोग जैसी संवैधानिक संस्थाओं के महत्व को कम कर रहे हैं।

राहुल ने कहा कि नोटबंदी का कदम आरबीआई का नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का व्यक्तिगत फैसला था। उन्होंने कहा, "मोदीजी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिनका पूरी दुनिया में उपहास किया जा रहा है।"

राहुल ने कहा, "वह स्वच्छ भारत से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी कर रहे हैं और देश की जनता आस लगा रही है कि अच्छे दिन कब आएंगे। अच्छे दिन केवल 2019 में आएंगे, जब कांग्रेस सत्ता में आएगी।"

उन्होंने कहा कि मोदी और भाजपा की यह पूछने की आदत रही है कि आजादी के बाद से कांग्रेस सरकारों ने 70 साल में क्या किया। उन्होंने कहा, "इस देश के लोग जानते हैं कि कांग्रेस ने क्या किया और क्या नहीं किया। उन्होंने देश के हर राज्य में केवल अपना पसीना ही नहीं बहाया, बल्कि अपना खून भी दिया है..कितने भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपना खून दिया है।"

उन्होंने कहा, "हमें यह बताने की जरूरत नहीं है कि हमने पिछले 70 साल में क्या किया और क्या नहीं किया..लेकिन भाजपा ने ढाई सालों में वह सब बर्बाद कर दिया, जो हमने 70 सालों में हासिल किया था। उन्होंने उन संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर कर दिया है, जिन्हें हमने इतने दशकों में खड़ा किया था।"