India’s Biggest

Rural Media Platform

सेहत कनेक्शन

विश्व टीबी दिवस : टीबी के मामले तेजी से बढ़ने का एक प्रमुख कारण गरीबी

विशेषज्ञों ने कहा है कि जानकारी का अभाव और आदिवासी इलाकों में रोगियों की इलाज तक सीमित पहुंच के चलते भारत में टीबी के मामले बढ़ रहे हैं।

विश्व टीबी दिवसः टीबी से हर तीन मिनट में होती हैं दो मौतें

पूरी दुनिया में हर साल लगभग 91 लाख लोगों को क्षय रोग (टीबी) होती है, जिसमें 17 लाख लोगों की मौत हो जाती है। टीबी के बारे में जागरूक करने के लिए हर वर्ष 24 मार्च को विश्व टीबी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

भारत में टीबी से सालाना मौतों की संख्या हुई दोगुनी 

भारत में साल 2015 में तपेदिक (टीबी) से मरनेवालों की संख्या 4,80,000 थी, जो साल 2014 में इस रोग से हुई 2,20,000 मौतों से दोगुनी है। इसका कारण है कि पहले की मौतों के जो अनुमान लगाए गए थे, वे गलत थे।

परीक्षा में ज्यादा तनाव लेना हानिकारक

परीक्षा होने से पहले अक्सर छात्र खाना पीना और सोना छोड़ देते हैं क्योंकि उनको बहुत घबराहट होती है। तनाव, घबराहट की एक सामान्य प्रक्रिया है।

24 मार्च विश्व क्षय रोग दिवस: इंदौर में भारत के कई राज्यों से आएंगे हजारो लोग रक्तदान करने

रक्तदान की जानकारी एम्पायर फाउण्डेशन के संस्थापक व राष्ट्रीय संयुक्त सचिव उन्नाव के अकील खान ने दी। अकील खुद भी रक्तदान शिविर में रक्तदाता के रूप में भाग लेंगे।

मलेरिया का टीका तैयार करने के और करीब पहुंचे वैज्ञानिक

मलेरिया का इलाज अब होगा आसान। ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने ऐसा पदार्थ खोज निकाला है जो लीवर को संक्रमित करने वाले रोगाणुओं को खत्म कर सकता है।

गुणों से भरपूर हैं ये चार खास जंगली फल

शहरीकरण और शहरों का महानगरीकरण होने से वनों और वनसंपदाओं के प्रति हमारा ज्ञान सीमित होता गया। एक बार फिर प्रकृति की शरण लेंगे, इनका औषधीय  महत्व भी तो है।

प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम करती है ब्रोकली का सेवन

ब्रोकली (हरी फूलगोभी) और सल्फोराफेन की उच्च मात्रा वाली सब्जियों के सेवन से प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा कम होता है। पुरुषों के बीच वैश्विक स्तर पर प्रोस्टेट कैंसर दूसरा सबसे ज्यादा पाया जाने वाला कैंसर है।