India’s Biggest

Rural Media Platform

videos

बहराइच की इस सड़क पर कब डामर पड़ा था इलाके के लोगों को याद नहीं

विधानसभा चुनाव का बिगुल बजते ही नेता अपने वादों के साथ फिर लोगों के दरवाजों तक पहुंच रहे हैं। लेकिन इन नेताओं को शिवपुर के विकास खंड के लोग ध्यान नहीं दे रहे हैं। इलाके में पिछले कई वर्षों टूटी पड़ी करीब 10 किलोमीटर की सड़क के चलते लोगों में नाराजगी है।

कई ऐतिहासिक लम्हों का गवाह रिफ़ह-ए-आम भवन आज बदहाल

लखनऊ के गोलागंज में अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई का केंद्र रहा रिफह- ए- आम क्लब आज अपनी गुज़री हुई दास्तां को समेटे अपने आज पर आंसू बहा रहा है।

ग्रामीण सड़कों के निर्माण में धांधली, महीने भर में ही उखड़ने लगी करोड़ों में बनी सड़क

3 करोड़ से अधिक की लागत में बने दो मार्गों की हालत खस्ता हो गई है, लोगों का कहना है कि महज आठ दिन पहले बनी सड़क की हालत ये है कि मोटर साइकिल का ब्रेक लगाने से ही उखड़ने लगा है डामर।

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी आलू के लिए घातक, लाल की जगह सफेद आलू पर पाले का खतरा ज्यादा

पिछले हफ्ते अचानक पड़े पाले से किसानों का नुकसान हो गया है। पाला पड़ने से सबसे ज्यादा नुकसान आलू किसानों का हुआ है। कृषि वैज्ञानिकों की माने को पहाड़ों हो रही बर्फबारी आलू और सरसों जैसी फसलों के लिए घातक साबित होगी।

रेल हादसे के पीछे साजिश की आशंकाओं के बीच रेलवे ने बढ़ाई सुरक्षा, ट्रैक पर रखी जा रही नजर

बिहार में पकड़े गए आरोपियों के खुलासे के बाद रेलवे और सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हो गई हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने पुखरायां हादसे के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ होने की बात कबूली है।

नगर निगम की अनदेखी, कूड़े से घिरा कुष्ठ आश्रम

मेरठ के बृह्मपुरी क्षेत्र के हापुड़ रेलवे फाटक पर बना विवेकानन्द कुष्ठ आश्रम नगर निगम की लापरवाही के कारण कूड़े से घिर गया है।

ये किसान नाव पर अपना ट्रैक्टर कहां ले जा रहा है  ?

खेडी गाँव के रहने वाले धर्मवीर सिंह कश्यप रोजाना खेती करने के लिए अपना ट्रैक्टर नाव पर लादकर नदी पार ले जाते है। उनके मन में भय रहता है कि मैं नदी से उस पार सही सलामत पहुँच पाउँगा या नहीं।

पांच हजार रुपये के लिए चक्कर काट रहे व्यक्ति ने बैंक में ही की आत्महत्या की कोशिश, देखिए वीडियो

“मैं कई दिनों से बीमार हूं और इलाज के लिए बैंक में 5 हजार रुपये निकलवाने लिए पांच दिन से चक्कर लगा रहा हूं, आज भी लाइन में था लेकिन बैंकवालों ने विड्राल फार्म नहीं दिया। इसलिए परेशान होकर आत्महत्या करने जा रहा था।”- रामविलास, पीड़ित

आदिवासियों की एकजुटता का प्रतीक है कर्मा नृत्य, आप भी बस देखते रह जाएंगे

कर्मा नृत्य गोंड आदिवासियों का पारंपरिक नृत्य है। यह नृत्य जनजाति की खुशी का इजहार करने का तरीका है जो ज्यादातर छत्तीसगढ़ और सोनभद्र में प्रचलित है।

मथुरा में 30 साल बाद बन रही सड़क का काम ग्रामीणों ने रुकवाया, घटिया सामग्री के इस्तेमाल का आरोप

मथुरा के मांट तहसील में बन रही सड़क में घटिया निर्माण सामग्री के इस्तेमाल पर भड़के ग्रामीणों ने काम रुकवा दिया है।