India’s Biggest

Rural Media Platform

stories

चित्रकूट में नहीं हो रही धान खरीद, एक-एक दिन टरका रहे मंडीवाले

प्रभाकर सिंह- कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

चित्रकूट। किसानों का आरोप है कि मंडी वाले हमारा धान नहीं खरीद रहे। बीते तीन साल सूखे ने झेलाया। अबकी बार फसल अच्छी हुई तो मंडी वाले अड़ंगा लगा रहे हैं। यह हाल है कर्वी एग्रो मंडी समिति का जहां किसान बीते एक हफ्ते से ठेरा जमाए हैं।

वह आए भी मंडी वालों के बुलावे पर थे लेकिन एक-एक कर छह दिन बीत गए और धान की खरीद शुरू नहीं हुई। धान ट्रैक्टर-ट्राली में लदा पड़ा है। इस कड़ाके की ठण्ड में सभी किसान मंडी में ही रात बिताने को मजबूर हैं। रात भर जागना भी पड़ता है कि कहीं सुअर बोरी न फाड़ दे।

मंडी में अपना अनाज बेचने आए किसान।

गोदाम में जगह नहीं, कैसे करें खरीद

मंडी में धान खरीद देख रहे बैजनाथ वर्मा का कहना हैं, ‘गोदाम पहले ही धान से पटे पड़े हैं। नई खरीद कहां से करें। जगह होने पर तुरंत खरीद शुरू होगी लेकिन कब यह साफ नहीं है।’

प्रतिदिन हजार रुपए भाड़ा भर रहे किसान

छिपनी गाँव के किसान दिनेश सिंह का कहना है कि आज चार-पांच दिन से हम धान खरीद का इंतजार कर रहे हैं। प्रतिदिन हजार रुपए के हिसाब से ट्रैक्टर का भाड़ा भर रहे हैं। ऊपर से कड़ाके की ठंड में यहां रात गुजारनी पड़ रही है।

गाँव पचोखर पहाड़ी ब्लॉक के किसान बच्चूराम ने बताया कि कैंप प्रभारी बैजनाथ वर्मा ने हमें बुलाया था। उन्होंने कहा था कि गोदाम भरा हुआ है। जब उनमें जगह हो जाएगी तो ही धान की खरीद होगी। कसहाई गाँव के किसान श्रीकांत ने बताया कि गोदाम खाली है। नायब तहसीलदार कर्वी ने आश्वासन दिया था कि मंगलवार को धान खरीद की व्यवस्था की जाएगी लेकिन दिनभर बीत गया कुछ भी नहीं हुआ।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).