India’s Biggest

Rural Media Platform

यूपी इलेक्शन 2017

मोदी मेरा मजाक उड़ा लें पर भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब दें : राहुल गांधी      

बहराइच (भाषा)। आक्रामक राहुल गांधी ने अपने कल के भाषण का मजाक उड़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आज पलटवार किया और कहा कि वह उनका मजाक उड़ा सकते हैं लेकिन उन्हें अपने ऊपर लगे निजी भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देने की जरुरत है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में बहराइच में जनाक्रोश रैली में प्रधानमंत्री से कहा कि वह उनका जितना चाहे मजाक उड़ा सकते हैं लेकिन वह उनके द्वारा उठाए गए सवालों का जवाब दें। उन्होंने कहा, ‘‘आरोप अकेले मेरे द्वारा नहीं बल्कि भारत के युवाओं द्वारा लगाए गए हैं जो अपने को ठगा हुआ महसूस करते हैं क्योंकि आपने उन्हें नौकरियों का वादा किया था।''

गांधी ने हवा में कागज लहराए जिनमें कथिततौर पर मोदी के खिलाफ आरोपों की जानकारी थी कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने कथिततौर पर सहारा और बिडला समूहों से धनराशि स्वीकार की। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री से यह बताने को कहा कि दस्तावेज सही हैं या नहीं।

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी ने गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए सहारा समूह से 2013 से 2014 के दौरान छह महीने की अवधि में नौ किश्तों में 40 करोड़ रुपए लिए। गांधी ने नोटबंदी पर कड़ा प्रहार करते हुए जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री ने अचानक यह फैसला गरीबों की नहीं बल्कि ‘‘भारत के बहुत अमीर 50 परिवारों'' की मदद करने के लिए किया।

एक बेहतरीन कार्यक्रम नियोजक’’ बताया जिन्होंने उन अमीरों की मदद करने के वास्ते गरीबों से पैसा लेने के लिए ‘‘बेहतरीन योजना’’ बनायी जिन पर बैंकों का करीब आठ लाख करोड़ रुपए का ऋण है।
राहुल गांधी उपाध्यक्ष कांग्रेस (प्रधानमंत्री पर निशाना साधा)

सहारा द्वारा दिये गए 10 पैकेटों में क्या था : राहुल ने मोदी ने पूछा

व्यक्तिगत आरोपों को लेकर प्रधानमंत्री द्वारा चुटकी लेने से बेपरवाह कांग्रेस उपाध्यक्ष ने नरेन्द्र मोदी से सवाल किया कि सहारा समूह की ओर से कथिततौर पर दिेए गए ‘‘10 पैकेटों' में क्या था जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे। राहुल गांधी ने हिन्दी में ट्वीट किया, ‘‘ मोदीजी पहले हमें यह बताएं कि सहारा से मिले 10 पैकेटों में क्या था। ''

अपने ट्वीट के साथ उन्होंने आयकर विभाग के अक्तूबर 2013 से फरवरी 2014 के बीच नौ प्रविष्टियों से जुडे कथित दस्तावेज भी जारी किए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आरोपों से ‘‘भूकंप'' लाने की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की टिप्पणियों पर तंज कसते हुए आज वाराणसी में कहा कि कांग्रेस नेता ने भाषण देना ‘‘सीख'' लिया है क्योंकि उन्होंने अनजाने में अपनी पार्टी के शासन की ‘‘विफलताओं'' को स्वीकार किया है।