Top

'बुंदेलखंड में हालात लातूर जैसे नहीं, नहीं चाहिए केंद्र से पानी'

बुंदेलखंड में हालात लातूर जैसे नहीं, नहीं चाहिए केंद्र से पानी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से उत्तर प्रदेश के सूखा प्रभावित और सूखे की मार झेल रहे बुंदेलखंड इलाके को भेजी गई पानी की ट्रेन को राज्य ने लेने से मना कर दिया है। रेल मंत्रालय को लिखी एक चिट्ठी में अखिलेश यादव सरकार ने कहा कि हमारे यहां लातूर जैसे हालात नहीं हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने अपनी चिट्ठी में कहा कि अगर हमें पानी की जरूरत महसूस होगी तब हम रेलवे को सूचित कर देंगे।

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड इलाके में सूखे की ज़बर्दस्त मार पड़ी है। कई रिपोर्टों के बाद केंद्र सरकार का ध्यान इस ओर गया है। इलाके में पानी की किल्लत कितनी गंभीर है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां के कुछ किसान सूखे की वजह से फसलें बर्बाद होने की वजह से खुदकुशी कर चुके हैं। 

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.