‘एक्सप्रेस-वे पर खुलेंगी मंडियां’

‘एक्सप्रेस-वे पर खुलेंगी मंडियां’gaoconnection

सैफई (इटावा)। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दावा किया है कि प्रदेश सरकार ने जिस रफ्तार से लखनऊ में मैट्रो का निर्माण कराया है, उस रफ्तार से देश में कहीं भी काम नहीं हुआ। इतना ही नहीं प्रदेश सरकार ने किसानों की सुविधाओं के लिए ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का निर्माण कराया है। इस मार्ग को आगे भी बढ़ाया जाएगा और मार्ग के आस-पास दुग्ध मंडियां, गल्ला मंडियां व कृषि से संबंधित मंडियों के निर्माण के लिए सरकार काम कर रही है।

मुख्यमंत्री यादव सोमवार को सैफई महोत्सव पंडाल में पीएचडी चैंबर (प्रोग्रेस हॉरमोनी डेवलपमेंट) की ओर से आयोजित उप्र एग्रीहॉर्टी प्रदर्शनी का अवलोकन करने के बाद कृषि विशेषज्ञों व किसानों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री यादव ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों का बखान करते हुए कहा, “वक्त के अनुसार बदलाव आए हैं। आज किसानों के पहनावे, खान-पान व रहन-सहन में व्यापक बदलाव हुए हैं। दुनिया व देश की अर्थव्यवस्था कृषि पर ही आधारित है। देश की जीडीपी भी तब तक नहीं बढ़ सकती है जब तक हमारे किसानों को समय पर बारिश व अतिवृष्टि से बचाकर उनकी फसलों को पर्याप्त मूल्य नहीं मिलेगा।” उन्होंने दावा किया कि समाजवादी सरकार गरीब किसानों का उत्थान करने के लिए व्यवस्था परिवर्तन करना चाहती है। इसके लिए किसानों को अत्याधुनिक तकनीक के साथ विशेषज्ञों के परामर्श से परंपरागत कृषि व्यवसाय से हटकर काम करना पड़ेगा। 

उन्होंने कहा, “कोई भी चुनाव संपन्न होने के बाद ही महंगाई बढ़ जाती हैं। दालों की कीमतें आसमान पर हैं। यदि किसानों को समय से मौसम की सटीक जानकारी मिल जाए कि आगामी वर्ष में दालों का संकट आ सकता है तो हमारे किसान आगामी वर्ष में दाल का उत्पादन कर इस संकट से बच सकते हैं।” उन्होंने दावा किया कि प्रदेश सरकार की नीतियों का ही परिणाम है कि अब गैर राज्यों के उद्यमी भी प्रदेश में निवेश के इच्छुक हैं। उन्होंने मायावती के कार्यकाल पर निशाना साधते हुए कहा, “पूर्ववर्ती सरकार को चीनी आयात करने को मजबूर होना पड़ा था। हमने गन्ना किसानों व चीनी मिल मालिकों की समस्या को समझा और उसको सुलझाया।” 

महिलाओं को सिलाई मशीनें तो किसानों को मिले ट्रैक्टर

  प्रदर्शनी में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हाथ से महिलाओं को महिला कौशल विकास योजना के तहत सिलाई मशीनें तथा अनुदानित किसानों को वितरित किए जाने वाले 24 किसानों को ट्रैक्टरों की चािबयां सौंपी गईं। सिलाई मशीनें पाकर महिलाओं के चहेरे पर खुशी की लहर थी। इसके बाद क़ृषि निदेशक ने मुख्यमंत्री के हाथ से ही इफ्को द्वारा अनुदानित 24 किसानों को ट्रैक्टरों की अलग-अलग चाबियां सौंपीं। 

सैफई में खुलेगा दस लाख की क्षमता वाला चिड़िया फार्म

 लगातार विकास के आयाम स्थापित करने वाली सैफई में जल्द ही दस लाख चिड़ियों की क्षमता वाला विशाल फार्म खोला जाएगा। पक्षियों को बचाने के प्रति संकल्पित प्रदेश के मुख्यमंत्री की मौजूदगी में ही इसकी घोषणा हैदराबाद के उद्यमी ने की। 

प्रदेश में निवेश करना चाहता है फ्रांस का उद्यमी

प्रदर्शनी में फ्रांस के उद्योगपति सुधांशु ने बताया, “उनकी कंपनी विभिन्न सरकारों के साथ संतुलन बनाते हुए दुनिया के तमाम देशों में कारोबार करती है। हिंदुस्तान में दुग्ध उत्पाद की अग्रणी कंपनी अमूल्य कंपनी भी उन्हीं की है। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को सुझाव दिया कि वह उप्र सीड और मोड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में पांच सौ करोड़ रुपये तक का निवेश करने के इच्छुक हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री चाहें तो वह बैठक कर अफसरों को निर्देशित करें।” उनके इस सुझाव का मुख्यमंत्री यादव ने स्वागत किया और जल्द ही इस पर बैठक आयोजित करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने किया मांसाहार  का बचाव 

 मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मांसाहार का बचाव करते हुए कहा, “यदि लोग मांसाहारी नहीं होंगे तो इतनी सब्जियों और दालों का उत्पादन नहीं हो सकेगा, जिससे घरों में लोगों को पर्याप्त सब्जी व दालें भी मिल सकें।” उन्होंने कहा, “प्रदेश में दो करोड़ से अधिक अंडों की प्रतिदिन खपत होती है। अधिकाधिक अंडों का उत्पादन हैदराबाद में होता है। इन अंडों को ट्रांसपोर्ट के माध्यम से प्रदेश में लाने में काफी समय बर्बाद होता था। यही वजह है कि प्रदेश सरकार के प्रयासों से हैदराबाद के ही एक उद्यमी ने प्रदेश में अंडों का उत्पादन आरंभ किया है।”

रिपोर्टर - मसूद तैमूरी

Tags:    India 
Share it
Top