‘मंत्री जी हमें गोली मरवा दो’

‘मंत्री जी हमें गोली मरवा दो’गाँव कनेक्शन

बागपत। “मंत्री जी हमें यहीं पर गोली मरवा दो, क्योंकि हम घर पर नहीं जाएंगे। हम दोनों अब किसी तरह से घर में सुरक्षित नहीं हैं।” ये बातें रो-रोकर विकास भवन में आए प्रभारी मंत्री के सामने मृतक शिक्षक की पत्नी और बेटी ने कहीं। इतना कहते-कहते पत्नी बेहोश होकर गिर पड़ी। हालांकि इस वाक्ये पर मंत्री जी नहीं पिघले और उसे वहां बेहोश छोड़कर चले गए। बाद में बसपा विधायक लोकेश दीक्षित व रालोद विधायक वीरपाठ राठी पहुंचे और महिला को पानी पिलाकर होश में लाए। 

कुछ दिन पहले खिंदौड़ा गाँव के शिक्षक की स्कूल में घुसकर गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। मामले में कई हत्यारोपी अभी फरार चल रहे हैं। फरार चल रहे हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने व न्याय दिलाने की मांग को लेकर गुरुवार को शिक्षक की पत्नी उर्मिला और बेटी प्रियंका विकास भवन सभागार में मंत्री से मिलने पहुंचे। जब बैठक खत्म हुई तो उन्होंने प्रभारी मंत्री सुधीर कुमार रावत को ज्ञापन सौंपा।

रोते हुए दोनों ने बताया कि पुलिस प्रशासन पर विश्वास अब नहीं रहा। थाना सिंघावली अहीर के दरोगा के कारण ही शिक्षक की हत्या हुई है, क्योंकि वह दर्जनों बार दरोगा से सुरक्षा की गुहार लगा चुके थे। यदि वह उनकी सुरक्षा कर लेते तो आज वह उनके बीच होते। एसपी ने दरोगा का सस्पेंड करके अपनी खानापूर्ति कर दी। अभी तक उसको बर्खाश्त तक नहीं किया। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं, लेकिन कोई भी पुलिस अधिकारी हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने में रुचि नहीं ले रहे है, जिससे अभी उनकी जान को खतरा बना हुआ है। 

उन्होंने कहा कि मंत्री जी यदि न्याय नहीं दिला सकते हो तो तुम ही गोली मरवा दो, क्योंकि हमें पता है कि यहां न्याय नहीं मिलने वाला। पहले बेटा मार दिया गया फिर बाप को मार दिया गया। अब उनके पूरे परिवार की हत्या कर दी जाएगी। क्योंकि आए दिन उन्हें धमकी मिल रही हैं और पुलिस कुछ भी नहीं कर रही। 

डीएम साहब, हमारे ऊपर चढ़ा दो गाड़ी 

मंत्री की ओर से उचित आश्वासन न मिलने के बाद विकास भवन परिसर में जब डीएम ह्रदय शंकर तिवारी गाड़ी लेकर चलने लगे तो महिला व उसकी बेटी गाड़ी के नीचे लेट गए। दोनों चिल्लाने लगीं कि यदि वे घर जाएंगे तो उनकी हत्या कर दी जाएगी। इससे अच्छा तो उनको यहीं मार दिया जाए। हालांकि डीएम पर भी उनकी बातों का असर नहीं पड़ा और वो भी वहां से निकल गए

विधायकों के आश्वासन पर उठी मां-बेटी 

रालोद विधायक वीरपाल राठी व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित के आश्वासन पर मां व बेटी डीएम की गाड़ी के नीचे से उठीं। उन्होंने कहा कि वह उनके साथ है और उन्हें पूरा न्याय दिलाया जाएगा। उनके साथ भेदथाव नहीं किया जाएगा। वह आखिरी दम तक उनके साथ रहेंगे और इस मामले को मुख्यमंत्री तक पहुंचाकर न्याय दिलाने के लिए पूरा प्रयास किया जाएगा। 

Tags:    India 
Share it
Top