‘साहब! पुराने प्रधान ने खेत पर कब्जा कर लिया है’

Swati ShuklaSwati Shukla   18 May 2016 5:30 AM GMT

‘साहब! पुराने प्रधान ने खेत पर कब्जा कर लिया है’गाँव कनेक्शन

लखनऊ। साहब! मेरे खेत पर पूर्व प्रधान बिन्द्रा सिंह ने खेत पर कब्जा कर दीवार उठा दी है। ये शिकायत मामूपुर बाना गाँव की रहने वाली लक्ष्मी सिंह ने मंगलवार को तहसील दिवस में की। तीन बार शिकायत करके थक चुकी लक्ष्मी चौथी बार मंगलवार को डीएम के सामने पहुंची थीं।

अपनी मां के साथ शिकायत करने आई लक्ष्मी बताती हैं कि हम चार भाई बहन हैं। बचपन में मेरे पिता का निधन हो गया था। भाई छोटे हैं और मजदूरी करते हैं। जैसे-तैसे करके हमने इण्टर पास किया। लक्ष्मी बताती है कि हमारे पास 10 बिसवा भर  खेत है, जो हमारी सबसे बड़ी जमापूंजी है। 

पूर्व प्रधान ने खेत में दीवाल खड़ी कर ली और खेत में काम नहीं करने देते हैं। पिछली तहसील दिवस आईजीआरएस रिपोर्ट में लिख दिया था कि 5 अप्रैल को यह मामला निस्तारित किया जा चुका है जबकि  हमारे बीच कोई समझौता नहीं हुआ है। उसने बताया कि मुझ पर लगातार समझौते का दबाव बनाया जा रहा है।

बख्शी तालाब ब्लॉक में आयोजित तहसील दिवस मंगलवार को डीएम की अध्यक्षता में हुआ। लखनऊ की सब तहसील में हुए तहसील दिवस में कुल 38 शिकायतों का ही निस्तारण हुआ जबकि कुल 932 शिकायतें सामने आई थीं।

शिकायतों की वेटिंग लिस्ट न बनने पर भड़के सीडीओे

मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त शर्मा से कहा कि अभी तक विभागों द्वारा शिकायत की वेटिंग लिस्ट नहीं बनाई गई। बुधवार तक सभी अधिकारियों को वेटिंग लिस्ट बनाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि शिकायत का निस्तांतरण करने के बाद शिकायत कर्ता से फोन पर बात अवश्य करें कि वो कार्य से सन्तुष्ट है कि नहीं। 

तहसील दिवस के दौरान बीकेटी तहसील की उपजिलाधिकारी ज्योत्सना यादव ने भी शिकायतों को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए। साथ ही व्हाट्सएप ग्रुप में अधिकािरयों को सक्रिय रहने को कहा।

साहब! बिजली है नहीं पर भेजा दिया बिल

बक्शी का तालाब के परसईया गाँव के रहने वाले राम प्रभारी बताते हैं कि साहब मेरे गाँव में बिजली नहीं है। इसके बाद भी बिजली विभाग ने बिल भेज दिया। रामप्रभारी को विद्युत विभाग ने दो बार गलत बिल भेजा है। राम प्रभारी के साथ ही इस गाँव में ऐसे लोगों की संख्या सैकड़ों में हैं जिन्हें बिना बिजली के ही बिल भेज दिया गया है। पिछली तहसील में शिकायत के बाद भी कोई सुनवाई नहीं । 

विधवाओं और दिव्यांगों को नहीं मिल रही पेंशन

विधवा पेंशन और दिव्यांगों को साल भर से पेंशन न मिलने की शिकायत भी तहसील दिवस में पहुंची। सेंगरपुर ग्राम पंचायत के अतरौरा गाँव की गंगा देवी (60 वर्ष) बताती हैं कि पिछले एक साल से पेंशन नहीं मिल रही है, प्रधान से कई बार शिकायत की पर कोई मदद नहीं की। इंटौंजा ब्लॉक के पृथ्वीपुर गाँव की रहने वाली तारा देवी (55 वर्ष) बताती हैं कि साल भर से हमें पेंशन नहीं मिली। मेरे पास और काई सहारा नहीं है। बच्चे भी नहीं रहते, साथ के पड़ोसी के साथ यहां तक पहुंच पाई हूं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top