'स्वराज अभियान' ने की राजनैतिक दल बनाने की घोषणा

vineet bajpaivineet bajpai   31 July 2016 5:30 AM GMT

स्वराज अभियान ने की राजनैतिक दल बनाने की घोषणाgaonconnection

लखनऊ। आम आदमी पार्टी से अलग होने के बाद योगेन्द्र यादव ने स्वराज अभियान की शुरुवात की थी, जिसको अब राजनैतिक पार्टी बनाने की घोषना कर दी है।

स्वराज अभियान के पहले राष्ट्रीय प्रतिनिधि अधिवेशन में रविवार को राजनैतिक दल निर्माण की घोषणा हुई। शनिवार को राष्ट्रीय प्रतिनिधियों के सम्मेलन में 'राजनीतिक दल निर्माण के प्रस्ताव' पर गहन विचार-विमर्श हुआ, प्रतिनिधियों के बीच सामूहिक चर्चा हुई, जिसके बाद प्रस्ताव पर सदस्यों द्वारा विधिवत वोटिंग हुई।

प्रतिनिधि सम्मलेन में आज मीडिया की उपस्थिति में वोटिंग परिणाम की घोषणा हुई, जिसमें 92.5% बहुमत ने राजनीतिक प्रस्ताव के समर्थन में मुहर लगाई। राष्ट्रीय प्रतिनिधियों द्वारा कुल 433 वोट पड़े जिसमें 405 लोग प्रस्ताव से सहमत, 26 असहमत और 2 वोट अमान्य पाए गए। राष्ट्रीय प्रतिनिधियों की सहमति के बाद स्वराज अभियान ने राजनीति की राह पर आगे बढ़ने का फैसला किया।

दो अक्टूबर तक राजनीतिक दल बनाने का संकल्प

स्वराज अभियान ने संकल्प लिया है कि 2 अक्टूबर तक राजनीतिक दल का निर्माण करेंगे। वैकल्पिक राजनीति के इस प्रारूप को मूर्त रूप देने के लिए स्वराज अभियान ने एक 6 सदस्यीय टीम का गठन किया है।  स्वराज अभियान के गठन के समय तीन मुख्य मापदंड तय किए गए थे। एक, लोकतांत्रिक ढंग से संगठन का निर्माण। दूसरा, देश के सामने गंभीर मुद्दों पर जन आंदोलन चलाना और तीसरा, पारदर्शिता और जवाबदेही को सुनिश्चित करना।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने प्रो. आनंद कुमार

प्रो. आनंद कुमार को स्वराज अभियान का राष्ट्रिय अध्यक्ष चुना गया। संगठन के उपाध्यक्ष के तौर पर तमिल नाडु से क्रिस्टिना सामी, बंगाल से अविक साहा, आंध्र प्रदेश से पुरुषोत्तम और दिल्ली से पीएस शारदा को चुना गया है। साथ ही फहीम खान को महासचिव, तथा गिरीश नंदगांवकर और राजीव ध्यानी स्वराज अभियान के नए सचिव चुने गए।  

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.