18 साल का ईरानी नागरिक था म्यूनिख पर हमला करने वाला शख्स

18 साल का ईरानी नागरिक था म्यूनिख पर हमला करने वाला शख्स18 साल का ईरानी नागरिक था म्यूनिख पर हमला करने वाला शख्स

म्यूनिख। ओलंपिया मॉल पर हमला करने वाले आतंकी की पहचान कर ली गई है। पुलिस चीफ़ हुबर्ट्स एंड्रिया के मुताबिक़, ''आतंकी 18 साल का जर्मन-ईरानी नागिरक था जो म्यूनिख का रहने वाला था। बंदूकधारी के पास दोहरी नागरिकता थी हमें उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है। इस अपराध को अंजाम देने के पीछे की वजह के बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। हमारा मानना है कि वो एकमात्र बंदूकधारी था। ऐसा मुमकिन है कि मॉल में गोलीबारी करने वाले बंदूकधारी ने अकेले ही इस हमले को अंजाम दिया हो और नौ लोगों की जान लेने के बाद खुदकुशी कर ली हो।'' 

मॉल से 1 किलोमीटर दूर मिली हमलावर की लाश 

जर्मनी की न्यूज़ एजेंसी डीपीए के मुताबिक, ''ये जानकारी म्यूनिख पुलिस के बम स्कवॉयड टीम के ज़रिए एक लाश के पास मिले बैगपैक की जांच करने के बाद जारी किया गया। ऐसा समझा जा रहा है कि बंदूकधारी ने अकेले ही हमले को अंजाम दिया। डीपीए ने बताया कि व्यक्ति की लाश उस मॉल से करीब एक किलोमीटर दूरी पर मिली जहां गोलीबारी की गई थी''

आतंकी हमले की साजिश के संकेत

इससे पहले बावेरिया की राजधानी में एक पुलिस प्रवक्ता ने कहा, ''हमें इसके आतंकवादी घटना होने का संदेह है। लेकिन इस घटना का इस्लामवादियों से संबंध होने के बारे में तत्काल कोई संकेत नहीं मिले है। सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में दिखाई दे रहा है कि काले रंग के कपड़े पहने एक बंदूकधारी मैक्डॉनल्ड्स के एक रेस्तरां से बाहर आते हुए लोगों पर अंधाधुंध गोलीबारी कर रहा है और लोग चिल्लाते हुए भाग रहे हैं।''

जर्मन सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई

जर्मन चांसलर एंजेला मार्केल म्यूनिख में हुई गोलीबारी की घटना के बाद  सुरक्षा परिषद की अहम बैठक बुलाई। उनके चीफ ऑफ स्टाफ पीटर अल्तमेयर ने ये जानकारी दी। उन्होंने बताया, ''सबंधित कैबिनेट मंत्री बर्लिन पहुंच रहे हैं। चांसलर और चीफ ऑफ स्टाफ के अलावा जर्मन सुरक्षा परिषद में विदेश, रक्षा और गृह मामलों के मंत्री और अन्य शीर्ष अधिकारी शामिल हैं। हम वो सब करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जो हम कर सकते हैं क्योंकि आतंक और अमानवीय हिंसा के लिए जर्मनी में कोई जगह नहीं है। हमले में मारे गए लोगों के परिजन और स्वतंत्रता और सुरक्षा की रक्षा में लगे पुलिस बलों के प्रति हमारी संवेदना है।''

हालात से निपटने में करेंगे मदद- ओबामा 

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने म्यूनिख में आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करने के साथ ही इसकी जांच में जर्मनी को मदद की पेशकश की है। ओबामा ने कहा, ''जर्मनी हमारे करीबी सहयोगियों में से एक है इसलिए हम उसे हालात से निपटने के लिए जो भी जरूरी सहयोग है वो मुहैया कराएंगे।''

मरने वालों के लिए हमारी संवेदनाएं: नरेंद्र मोदी

म्यूनिख में हुए हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गहरा दुख जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ''म्यूनिख में हुए भयानक हमले से हम सकते में हैं। इस हमले में मारे गए और घायल हुए लोगों के साथ हमारी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं हैं।''

Tags:    India 
Share it
Top