2015 में महाराष्ट्र के 3,228 किसानों ने की खुदकुशी

2015 में महाराष्ट्र के 3,228 किसानों ने की खुदकुशीGaon Connection

गाँव कनेक्शन नेटवर्क

नई दिल्ली। तमाम सरकारी कोशिशों के बावजूद महाराष्ट्र में किसानों की आत्महत्या का सिलसिला थमता नज़र नहीं आ रहा है। सरकारी आंकड़ों की मानें तो 2015 में महाराष्ट्र के 3,228 किसानों ने आत्महत्या की है, जो बीते 14 सालों में सबसे ज्यादा है। सबसे ज्यादा खुदकुशी के मामले महाराष्ट्र के अमरावती ज़िले में दर्ज़ किए गए हैं।

कितने किसानों ने की खुदकुशी

ज़िला                  मौतें

अमरावती             1179

औरंगाबाद            1130

नासिक                 459

नागपुर                 362

पुणे                      96

कोंकण                 2

सरकार के मुताबिक़ पिछले साल आत्महत्या करने वाले 3228 किसानों में से 1841 के आश्रित मुआवजा पाने के हक़दार हैं, जबकि 903 मामलों में ऐसा नहीं है। 484 मामलों की जांच अभी लंबित है। आत्महत्या करने वाले 1818 किसानों में से प्रत्येक के आश्रित को एक लाख रुपए की मुआवजा राशि दी जा चुकी है। खराब मॉनसून के कारण महाराष्ट्र में सूखे के हालात हैं। केंद्र सरकार ने सूखे से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा राहत कोष से 3049.36 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। इस बीच, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने ट्वीट किया कि उनकी सरकार किसानों को सूखे से की स्थिति निपटने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है।

Tags:    India 
Share it
Top