कांग्रेस, सपा और बसपा में पाकिस्तान का हीरो बनने की होड़: पीएम मोदी

कांग्रेस, सपा और बसपा में पाकिस्तान का हीरो बनने की होड़: पीएम मोदी

लखनऊ (उत्तर प्रदेश)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि कांग्रेस, सपा और बसपा में पाकिस्तान का हीरो बनने की होड़ है। उत्तर प्रदेश के अमरोहा में आयोजित एक चुनावी रैली में पीएम मोदी ने कांग्रेस, सपा और बसपा पर आतंकवाद को मदद पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि ये दल दुनिया के सामने बेनकाब हो रहे हैं। इन दलों में पाकिस्तान के पक्ष की बातें करके वहां 'हीरो' बनने की होड़ लगी हुई है।

भाजपा प्रत्याशी कंवर सिंह तंवर के समर्थन में आयोजित रैली में पीएम ने कहा, ''जब पाकिस्तान पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो रहा है तो ये उसके पक्ष की बात कर रहे हैं। वहां पर हीरो बनने की स्पर्द्धा हो रही है। कांग्रेस हो या फिर सपा-बसपा, आतंकवाद पर इसी नरम रवैये की वजह से कुछ लोगों के हौसले बुलंद हुए हैं। इन दलों ने सिर्फ आतंक की ही मदद नहीं की है, इन्होंने आपके जीवन और अस्तित्व को संकट में डाला है।''

उन्होंने कहा कि जब उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा और दिल्ली में कांग्रेस की सरकार थी, तब कभी अयोध्या और काशी को दहला दिया जाता था। कभी रामपुर में सीआरपीएफ कैम्प पर हमला होता था। देश की एजेंसियां बड़ी मशक्कत करके इन घटनाओं में शामिल लोगों को पकड़ती थीं लेकिन वोट बैंक की वजह से बुआ—बबुआ की सरकारें उन्हें छोड़ देती थीं।''

मोदी ने दावा किया कि पिछले पांच साल में धमाके इसलिए रुक गए क्योंकि दिल्ली में आपने एक चौकीदार बैठा दिया, जो आतंकियों को पाताल से भी खोज निकालेगा। उन्होंने कहा, मोदी आतंक को वोट बैंक से नहीं तौलता है। प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान में हाल में हुए हवाई हमले का जिक्र करते हुए जनता से पूछा, ''आप मुझे बताइये कि क्या आतंकी हमले के बाद मुझे चुप हो जाना चाहिये था, या उन पर प्रहार करना चाहिये था? मैंने सही किया ना... ऐसे ही करना चाहिए? आतंकवादियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देना चाहिए या नहीं? लेकिन हमारे देश में ही कुछ लोगों को इससे परेशानी है। उनकी रातों की नींद उड़ जाती है, जब भारत डंके की चोट पर दुश्मन को मारता है। कुछ लोगों को रोना भी आता है।''

मोदी ने उत्तर प्रदेश में सपा—बसपा—रालोद गठबंधन पर तंज करते हुए कहा कि कुछ लोग अलग—अलग जातियों के नाम पर समाज और देश में खाई पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। प्रदेश की जनता ने वर्ष 2014 के लोकसभा और 2017 के विधानसभा चुनाव में ऐसी ताकतों को मुंहतोड़ जवाब दिया था। प्रधानमंत्री ने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर, योगेन्द्र नाथ मण्डल और बाबू जगजीवन राम का नाम लेते हुए कांग्रेस पर इनकी उपेक्षा और अपमान करने का आरोप लगाया। अगर कांग्रेस और महामिलावट (सपा—बसपा—रालोद गठबंधन) वाले चुनाव जीतते हैं तो इन महापुरुषों का सम्मान नहीं हो सकेगा। उन्होंने दावा किया कि पूरी दुनिया में देश की साख आज जितनी ऊंची है, उतनी पहले कभी नहीं थी। देश के विकास की गति को इसी तरह बनाये रखने के लिये मजबूत सरकार बनाना बहुत जरूरी है।

(भाषा से इनपुट के साथ)

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top