Loksabha Elections 2019: मेनका गांधी को चुनाव आयोग की चेतावनी

आयोग ने मेनका गांधी को चेतावनी दी कि भविष्य में इस तरह का गलत आचरण नहीं दोहराएं।

गाँव कनेक्शनगाँव कनेक्शन   29 April 2019 10:57 AM GMT

Loksabha Elections 2019: मेनका गांधी को चुनाव आयोग की चेतावनी

लखनऊ। चुनाव आयोग ने सोमवार को केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी की सुल्तानपुर में की गई टिप्पणी के लिए कड़ी निंदा की है। मेनका ने सुल्तानपुर में मतदाताओं से कहा था, "जिन इलाकों में उन्हें वोट नहीं मिलेंगे वहां सरकारी कामों में दिक्कत आएगी।" आयोग ने मेनका गांधी को चेतावनी दी कि भविष्य में इस तरह का गलत आचरण नहीं दोहराएं।

चुनाव आयोग ने अपने आदेश में कहा कि मेनका ने न केवल आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया बल्कि भ्रष्टाचार से निपटने वाले जनप्रतिनिधि कानून का भी उल्लंघन किया है। सुल्तानपुर के सरकोडा गांव में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मेनका ने 14 अप्रैल को कहा था, "हम हर बार पीलीभीत में जीतते हैं, तो फिर हम एक गांव में ज्यादा काम करते हैं और दूसरे में कम, इसका पैमाना क्या है? इसका पैमाना है कि हम सभी गांवों को ए, बी, सी और डी गांवों के रूप में अलग-अलग विभाजित करते हैं। जिस गांव में हमें 80 फीसदी वोट मिलता है वह ए गांव है, जहां 60 फीसदी वोट मिलता है वह बी है जबकि 50 फीसदी वोट करने वाले गांव सी श्रेणी में आते हैं। वहीं 50 फीसदी से कम वोट करने वाले गांवों को डी श्रेणी में रखा जाता है।" उन्होंने कहा था कि सभी ए श्रेणी के गांवों में सबसे पहले विकास का काम होता है।

मेनका गांधी ने मुसलमानों को भी लक्षित करते हुए कहा था कि अगर मुसलमान उन्हें वोट नहीं देंगे तो उनके भी काम रूक सकते हैं। मेनका ने कहा था, 'अगर मैं मुसलमानों के समर्थन के बिना जीतती हूं और उसके बाद वे मेरे पास किसी काम के लिए आते हैं तो मेरा रवैया भी वैसा ही रहेगा।" चुनाव आयोग ने मेनका के इन बयानों पर कड़ी आपत्ति जताई है।

(भाषा से इनपुट के साथ)

मेनका गांधी मुसलमानों से बोलीं- हम लोग महात्‍मा गांधी की छठी औलाद नहीं


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top