हार के डर से मोदी का चेहरा पीला पड़ गया है: ममता

हार के डर से मोदी का चेहरा पीला पड़ गया है: ममता

पानीघटा (पबंगाल)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चुनाव हारने के डर "हारातांक'' से पीड़ित हैं और साम्प्रदायिकता के आधार पर लोगों को बांटकर राज्य में जीत हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं।

ममता ने कृष्णानगर लोकसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार मोहुआ मोइत्रा के समर्थन में यहां एक रैली में कहा, "वह (मोदी) जानते हैं कि वह चुनाव हार जाएंगे। यही वजह है कि उनका चेहरा पीला पड़ गया है। वह अब "हारातांक" से पीड़ित हैं और उत्तर प्रदेश, राजस्थान, नई दिल्ली, पंजाब, आंध्र प्रदेश, गुजरात, ओडिशा और अन्य राज्यों में हार के बारे में सोचकर हर रोज बकवास कर रहे हैं।"

यह भी पढ़ें- आराम से बैठिए, टाइम बम फटने को है

उन्होंने कहा, "भाजपा अगर त्रिपुरा में जीत भी जाती है तो मुझे बुरा नहीं लगेगा, क्योंकि वहां उन्हें 543 सीटें नहीं मिलेंगी। यही वजह है कि मोदी लोगों को हिंदू-मुस्लिम के आधार पर बांट कर वोट हासिल करने के लिये बंगाल के आसपास घूम रहे हैं।"

भाजपा के उस बयान पर कि उन्होंने बंगाल के लिये कुछ नहीं किया। बनर्जी ने कहा अगर ऐसा है तो लोग मुझसे जवाब मांगेंगे। ममता ने देश बचाने के लिये लोगों से भाजपा को वोट नहीं देने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा, "अगर आप देश को बचाना चाहते हैं तो भाजपा को वोट न दें। क्या आप नोटबंदी के दौरान हुई पीड़ा को भूल गए हैं? करोड़ों लोग पीड़ित हुए थे। अब जब चुनाव आ गए हैं तो क्या आप उन्हें (मोदी को) जवाब नहीं देंगे?" उन्होंने कहा, "उनके खिलाफ मतदान करके उन्हें (भाजपा) को नोटबंदी के लिये जोरदार तमाचा मारें।"

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी के जीवन पर बनी वेब सीरीज पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक

Share it
Top