पानी की समस्या दूर करने के लिए बनेगा जलशक्ति मंत्रालय : प्रधानमंत्री

बांदा पहुंचे पीएम मोदी ने कहा, यहां की बहनों का पानी को लेकर संघर्ष में अनुभव करता हूं, मैंने ये दर्द करीबी से देखा है, इस चुनौती को भी इस चौकीदार ने स्वीकार किया है

पानी की समस्या दूर करने के लिए बनेगा जलशक्ति मंत्रालय : प्रधानमंत्री

बांदा। चुनावी रैली को संबोधित करने यूपी के बांदा पहुंचे पीएम मोदी ने कहा, 23 मई को जब आप 'फिर एक बार मोदी सरकार' बनाएंगे तो पानी की समस्या दूर करने के लिए मिशन मोड पर काम किया जाएगा। यहां की बहनों का पानी को लेकर संघर्ष में अनुभव करता हूं, मैंने ये दर्द करीबी से देखा है। इस चुनौती को भी इस चौकीदार ने स्वीकार किया है। जैसे पहले चुल्हे के धूंए से मुक्ति दी, उसी तरह अब बारी पानी की समस्या से निपटा जाएगा।

मोदी ने आगे कहा, हमने संकल्प लिया है कि पानी के लिए अलग से जलशक्ति मंत्रालय बनाया जाएगा, जिसका अलग से बजट होगा। नदियां हों, समंदर हों, वर्षा का पानी हो, जितने भी संसाधन हैं सब जगह से तकनीक का उपयोग करके ज़रूरतमंद क्षेत्रों में जल पहुंचाया जाएगा। आजादी के इतने वर्षों तक जाति-बिरादरी के नाम पर वोट मांगे गए, लेकिन फिर क्या हुआ? सत्ता में आते ही बदले की कार्रवाई शुरु हो जाती थी। राजनीति के इस मॉडल ने सिर्फ व्यक्ति-व्यक्ति में ही भेद नहीं किया बल्कि क्षेत्रों के आधार पर भी भेदभाव किया गया।

ये भी पढ़ें: Loksabha Election: बनारस से अजय राय होंगे कांग्रेस के प्रत्याशी, गोरखपुर से मधुसूदन तिवारी को टिकट

पीएम मोदी ने कहा कि आज जो गांव-गांव में सड़कें बन रही हैं, वहां हर जाति, हर पंथ के लोग चलते हैं। हर गांव और हर घर तक बिजली पहुंच रही है, वो हर जाति, हर पंथ को मिल रही है। यहां की बहनों का पानी को लेकर संघर्ष में अनुभव करता हूं, मैंने ये दर्द करीबी से देखा है। इस चुनौती को भी इस चौकीदार ने स्वीकार किया है। जैसे पहले चुल्हे के धूंए से मुक्ति दी, उसी तरह अब बारी पानी की समस्या से निपटा जाएगा।

ये भी पढ़ें:वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से क्यों मिलना चाहते हैं 123 वर्ष के स्वामी शिवानंद

पीएम किसान सम्मान निधि के तहत देश के करीब 12 करोड़ किसानों के बैंक खाते में पैसे आ रहे हैं। यूपी के 1 करोड़ से अधिक किसानों को पहली किस्त पहुंच चुकी है। चुनाव के बाद जब फिर एक बार मोदी सरकार आएगी, तो हम पीएम किसान सम्मान निधि योजना से 5 एकड़ की शर्त हटाकर इस योजना का लाभ देश के सभी किसानों को पहुंचाएंगे, चाहे उनके पास कितनी भी जमीन हो।

ये भी पढ़ें: झारखंड में बोले पीएम मोदी- विरोधियों ने भी मान लिया, 'फिर एक बार मोदी सरकार'

पीएम मोदी ने कहा कि बुंदेलखंड में खेती के साथ-साथ औद्योगिक विकास हो, इसके लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे जैसी महत्वपूर्ण परियोजना से इस पूरे क्षेत्र का भाग्य बदलने वाला है। अब बुंदेलखंड को देश की सुरक्षा और विकास का कॉरिडोर बनाने की तरफ हम तेज़ी से आगे बढ़ रहे हैं। झांसी से आगरा तक बन रहा डिफेंस कॉरिडोर देश में ही सेना के लिए अस्त्र शस्त्र बनाने के अभियान को मजबूत करेगा। बुंदेलखंड ने मां भारती के गौरव गान की पुरानी परम्परा है। आज जब मैं यहां पहुंचा तो एक वीर जवान को नमन करने का मौका मिला। वो कतार में मेरे स्वागत के लिए खड़े थे।

Share it
Top