मंदिर बनो आलिशान है: बुंदेली भजन

'मंदिर बनो आलिशान है', ये बुंदेली भजन बताता है भगवान विष्णु के एक मंदिर के निर्माण के बारे में जो जबलपुर के मझाैली ब्लॉक में बना है। जब इस मंदिर के निर्माण का काम शुरू हुआ तो कई दफा बीच में अधूरा रह गया। कई बार मंदिर के पूरे निर्माण की कोशिश की गई लेकिन हर बार रुकावटें आईं, जिससे मंदिर निर्माण का काम पूरा नहीं हो सका। प्रशासन इसे बार-बार तोड़ रहा था, लेकिन लोग दोबारा से मंदिर बनवा देते थे। आगे चलकर एक लम्बे समय के बार आखिकार मंदिर निर्माण का काम पूरा हुआ।

ये भजन बुंदेली भाषा में गाया गया है। बुंदेली बुंदेलखंड के निवासियों की भाषा है । यह कहना बहुत कठिन है कि बुंदेली कितनी पुरानी बोली हैं लेकिन ठेठ बुंदेली के शब्द अनूठे हैं जो सदियों से आज तक इस्तेमाल में आ रहे हैं। बुंदेलखंडी के ढेरों शब्दों के अर्थ बंग्ला और मैथिली बोलने वाले आसानी से बता सकते हैं। इतिहास में बुंदेली में शासकीय पत्र व्यवहार, संदेश, बीजक, राजपत्र, मैत्री संधियों के अभिलेख बढ़ी मात्रा में मिलते हैं।



ये भी पढ़ें: बुंदेली भजन सुनिए, अच्छा लगेगा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top