आज गोंडा में रचेगा इतिहास

आज गोंडा में रचेगा इतिहासgaoconnection

लखनऊ। अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस पर जब पूरे देश भर में कहीं छुटि्टयां होंगी तो कहीं संगोष्ठियां। लेकिन यूपी के सबसे पिछड़े जिलों में से एक गोंडा में आज इतिहास रचा जाएगा।जिले की सभी ग्राम पंचायतों में एक साथ विकास कार्य शुरु होंगे।

गोंडा जिले की सभी 1054 ग्राम पंचायतों में अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के दिन रविवार को एक साथ विकास कार्य शुरू होंगे, इस अभियान के दौरान करीब 13.5 लाख मजदूर दिवसों का कार्य कराया जाएगा। इस दौरान ग्राम पंचायतों में होने वाले विकास कार्यों की निगरानी के लिए एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया  गया है।

इस ग्रुप पर पंचायतों में हो रहे विकास कार्यों की निगरानी कर रहे सभी पर्यवेक्षक तस्वीरों के साथ डिटेल और वीडियो भेजेंगे, जिससे काम हो रहा है कि नहीं इस पर नजर रखी जाएगी। इस अभियान को जिले में शुरु करने वाले नवनियुक्त डीएम आशुतोष निरंजन बताते हैं, “एक मई से शुरू होने वाले विकास कार्य अगले दस दिनों में पूरे करने हैं।

इस पर मनरेगा और अन्य पंचायतों में बचा पैसा खर्च किया जाएगा।” आगे बताते हैं, “अभियान के पीछे की मंशा यह है कि यह समय किसानों के लिए खेतों में विशेष काम नहीं है। इसलिए जिले में बड़े पैमाने पर मजदूरों-किसानों को कार्य उपलब्ध कराया जाएगा। इस पर कुल 20 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।”

इस अभियान की तैयारी पिछले पंद्रह दिनों से चल रही है। सभी ग्राम पंचायतों का सर्वे कराया गया और पंचायत सचिवों को बुलाकर इसके लिए बताया भी गया कि इस अभियान को कैसे सफल बनाना है। “पंचायतों में खुली बैठक करके कार्यों की सूची बनाई गई, इसके बाद मस्टरोल बनाया गया।

इससे ग्राम पंचायतों में स्थायी परिसंपत्तियों का निर्माण होगा। जिलास्तरीय अधिकारियों को इसकी निगरानी के लिए पर्यवेक्षण अधिकारी बनाया गया है।” डीएम आशुतोष निरंजन ने बताया, “इसके मई माह में करने का लाभ यह भी है कि लगन का सीजन खत्म हो चुका है। बारिश आने में एक से डेढ़ माह बाकी है। इसलिए काम करने का सही समय है। जो नए प्रधान आए हैं जो अपनी पंचायतों में काम दिखाना चाहते हैं।”

Tags:    India 
Share it
Top