आशा बहू से गैंगरेप, सड़कों पर उतरीं हजारों आशा बहुएं

आशा बहू से गैंगरेप, सड़कों पर उतरीं हजारों आशा बहुएंगाँव कनेक्शन

मेरठ। गुड़ की मिठास के लिए देश दुनिया में अपनी पहचान रखने वाले मुजफ़्फरनगर के देहात थाना क्षेत्र छापर के एक गाँव में आशा बहू से रेप का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया है लेकिन मामले के सामने आने के बाद सैकड़ों आशा बहुएं आरोपी को फांसी देने की मांग पर कलेक्ट्रेट पर धरना-प्रदर्शन कर रही हैं।

मामला मुजफ्फरनगर के थाना छपार क्षेत्र के गाँव का है। यहां पर 10 जनवरी की रात गाँव का ही शाहिब 40 वर्षीय आशा कार्यकर्त्री को अपने घर महिला को प्रसव पीड़ा का दर्द बताकर ले आया। आशा कार्यकर्त्री गर्भवती महिला को गाड़ी से जिला हॉस्पिटल ले आई। गाँव लौटते वक्त आरोपी शाहिब ने आशा कार्यकर्त्री को नशीला पदार्थ खिलाया और उसके बाद शाहिब ने आशा कार्यकर्त्री से जबरन बलात्कार किया। 

इतना ही नहीं साहिब ने पीड़ित महिला का अश्लील वीडियो भी बना डाला। आरोपी ने महिला को धमकी दी कि अगर उसने किसी को बताया तो वह इसे इंटरनेट पर डाल देगा। पीडि़त महिला लोकलाज के डर से चुप बैठ गयी लेकिन आरोपी ने वीडियो क्लिप वायरल कर दिया। इसके बाद मंगलवार देर शाम महिला ने उस समय जहर खा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली जब महिला को मालूम हुआ की उसकी वीडियो क्लिप इंटरनेट पर डाल दी गई है। पति के बीमार होने के कारण महिला आशा का काम कर अपने तीन बच्चों का पालन-पोषण कर रही थी। मामले तूल पकडऩे के बाद पुलिस ने आनन फानन में आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इस गाँव के निवासी सतीश ने बताया, ''प्रसव पीड़ा के बहाने साहिब आशा बहू को बुला ले गया और फिर चार युवकों ने उसके साथ बलात्कार किया। उसकी वीडियो भी बना ली। आरोपियों ने वीडियो शेयर भी कर दी जिससे टेंशन में आकर पीडि़ता ने आत्महत्या कर ली।’’ एसपी सिटी प्रदीप गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया, ''मृतक के आरोपी युवक से अवैध सम्बन्ध थे। युवक ने महिला की अश्लील क्लिप बनाई और उसे वायरल कर दिया। अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया है। अभियुक्त ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।’’

आशा कार्यकर्त्री द्वारा आत्महत्या के बाद जनपद में जगह-जगह आशाओं का प्रदर्शन जारी है। छपार, बुढ़ाना, मुख्य शिकित्सा अधिकारी और जिला अधिकारी कार्यालय पर हजारों आशा बहुएं धरना प्रदर्शन कर रही हैं। आशा बहुएं अपनी सुरक्षा और आरोपी बलात्कारी को फांसी की सजा के लिए कलक्ट्रेट परिसर में अनिश्चित कालीन धरना दे रही हैं। 

धरना दे रही आशा मुनेश देवी ने बताया, ''हमारी साथी मृतक के साथ गैंग रेप हुआ है। आज इसके साथ हुआ है कल किसी भी महिला आशा के साथ हो सकता है। हमें रात हो या दिन कहीं भी जाना पड़ता है, ऐसे में हमें जिला प्रशासन से सुरक्षा चाहिए और मृतक महिला के परिवार को उचित मुआवजा भी क्योंकि उसका पति बीमार है, घर में कोई करने वाला नहीं है। जब तक सोमवती को न्याय नहीं मिलेगा तब तक धरना चलता रहेगा।’’ शनिवार को एसडीएम सदर उज्जवल कुमार ने पीडि़त परिवार को पांच लाख का चेक दिया है।

रिपोर्टर - सुनील तनेजा

Tags:    India 
Share it
Top