आशा कार्यकर्त्रियों ने मांगा राज्य कर्मचारी का दर्जा

आशा कार्यकर्त्रियों ने मांगा राज्य कर्मचारी का दर्जाgaonconnection

ललितपुर। आशा कार्यकत्रियों व संगिनियों ने अपनी मांगों को लेकर व राज्य कर्मचारी का दर्जा दिलाने के लिए आवश्यक बैठक 'आदर्श आशा कार्यकत्री बेलफेयर एसोशियेशन' के तत्वाधान मे कम्पनी बाग मे सम्पन्न की गयी। जिसमे ज्वलन्त समस्याओं को कार्यकत्रियों ने प्रमुखता से शासन प्रशासन से निराकरण की मांग की गयी। तत्पश्चात पैदल मार्च कर प्रदर्शन करते हुये, आशा कार्यकत्रियां कलेक्ट्रेट पहुंची, कलेक्ट्रेट मे उपजिलाधिकारी एसके पाल को  स्वास्थ्य मंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा।

संगठन कि  जिलाध्यक्ष आशा यादव ने प्रमुख समस्याओं को रखते हुये कहा, "धात्री व गर्ववती महिलाओं की देखरेख, व प्रारम्भिक जॉच के साथ-साथ प्रसव होने तक प्रसूतियों की देखरेख ग्रामीण क्षेत्रों में आशा कार्यकत्रियों एवं आशासंगनी कम मानदेय पर जाकर करती हैं। वो आगे बताती हैं, "आने जाने में खतरा रहता है, कोई घटना होने के बावजूद भी सरकार की हम लोगों के प्रति कोई जिम्मेवारी नहीं है। इसलिए उन्होंने कार्यकत्रियों व संगिनियों को राज्य कर्मचारी घोषित किये जाने की मांग को प्रमुखता से उठाया, हम अपना हक लेकर ही रहेगे।"

शायरा बानो बताती हैं, "मंहगाई के इस दौर में मानदेय के सहारे परिवार का भरणपोषण करना सम्भव नहीं है। गुजर बसर करने मे काफी मुस्किल होती है। जीवन यापन कर पाना सम्भव नहीं है।" पाँच सूत्रीय ज्ञापन मे आशा कार्यकत्रियों को 15 हजार व संगिनीयों का मानदेय बीस हजार रुपये किये जाने और समय पर भत्ता दिलाने जाने की मांग को उठाया।

रिपोर्टर - अरविन्द्र सिंह परमार 

Tags:    India 
Share it
Top