आतंकवाद को बढ़ावा देने में सोशल मीडिया की भूमिका पर रास में चिंता

आतंकवाद को बढ़ावा देने में सोशल मीडिया की भूमिका पर रास में चिंताgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। राज्यसभा में गुरुवार को विभिन्न दलों के सदस्यों ने आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किए जाने पर चिंता जताते हुए सरकार से ऐसी वेबसाइटों पर तत्काल रोक लगाने की मांग की।

राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान भाजपा के भूपेन्द्र यादव ने आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किए जाने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि हाल ही में ख़बरें आई हैं कि आतंकी गुट सोशल मीडिया के माध्यम से दुष्प्रचार कर रहे हैं और खास तौर पर सीमाई इलाकों के नौजवानों को हिंसा के प्रति उन्मुख करने की कोशिश कर रहे हैं। यह दुष्प्रचार सीमा पर देश की सुरक्षा के लिए तैनात जवानों के खिलाफ भी किया जा रहा है।

यादव ने कहा कि एक दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित खबर में कहा गया है कि सरकार ने इस तरह का दुष्प्रचार करने वाली 268 वेबसाइटों की पहचान की है। इन वेबसाइटों पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद समूची मानवता के लिए खतरा है और इसे किसी भी रुप में बढ़ावा नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसी व्यवस्था बनानी चाहिए जिससे देश के खिलाफ कोई भी कुचक्र न रचा जा सके और पड़ोसी देश को करारा जवाब दिया जा सके। लगभग सभी दलों के सदस्यों ने इस मुद्दे से स्वयं को संबद्ध किया।

Tags:    India 
Share it
Top