अब घर-घर पहुंचेगा बैंक

अब घर-घर पहुंचेगा बैंकगाँव कनेक्शन

कुम्हरांवा (लखनऊ)। ग्रामीणों की सुविधा के लिए बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र बना रहे हैं, जहां पर नियुक्त बैंक मित्र अब आपके घर आएंगे, रुपए निकालना हो, जमा करने हो या कोई और काम हो उस में मदद करेंगे।

बैंक ऑफ इंडिया की शाखा कुम्हरांवा क्षेत्र के अन्तर्गत पांच ग्राहक सेवा केन्द्र बनाए गए हैं जो पिछले करीब तीन महीने से काम कर रहे हैं।

कुम्हरांवा में ही कुम्हरांवा-इटौंजा मार्ग पर बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक सेवा केन्द्र के बैंक मित्र रोहित शर्मा बताते हैं, ''बैंक में भीड़ बहुत हो जाती थी, जिससे ग्राहकों को बहुत परेशानी होती थी। घंटों लाइन में लगना पड़ता था और कभी-कभी तो कुछ ग्राहकों को वापस जाना पड़ जाता था, बुजुर्गों को बैंक तक आने में बेहद परेशानी होती थी। इसलिए उनकी परेशानी को कम करने के लिए ये ग्राहक सेवा केन्द्र बनाये गए हैं।"

रोहित अभी तक बैंक ऑफ इंडिया में ही बिजनेस कॉरेसपॉण्डेन्ट (कारोबार पत्राचार) के पद पर पिछले करीब तीन वर्षों से काम कर रहे थे, लेकिन अब उन्हें बैंक मित्र बना दिया गया है। वो बताते हैं, ''बैंकों में किए जाने वाले सारे काम ग्राहक सेवा केन्द्र द्वारा भी किए जाते हैं। ये केन्द्र बन जाने से अब लोगों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है और उनका काम भी तुरन्त हो जाता है।"

ग्राहक सेवा केन्द्र का लाभ वे सभी लोग उठा सकते हैं जिनका बैंक खाता आधार कार्ड से जुड़ा है, अगर किसी का खाता आधार कार्ड से जुड़ा नहीं है तो वो अगर अपना आधार कार्ड साथ में लेकर आए तो तुरन्त उसका खाता आधार कार्ड से जोड़ दिए जाता है और उसके बाद वो पैसे निकाल व जमा कर सकता है।

केन्द्र पर पैसे निकलवाने के लिए आए कमल किशोर (35 वर्ष) बताते हैं, ''ये केन्द्र खुलने से सब लोगों का काम बहुत आसान हो गया है। पहले ये नहीं थे तो बैंक से पैसे निकालने में बहुत परेशानी होती थी। कभी-कभी पूरा दिन लग जाता था। अब यहां आता हूं, न लाइन में लगना पड़ता है और न ही इंतज़ार करना पड़ता है, तुरन्त काम हो जाता है।"

बगल में ही बैठे दूसरे बैंक मित्र विश्वनाथ बताते हैं, ''हम लोग गाँव-गाँव जाकर भी बैठते हैं, ताकि वहां के जो लोग रुपए जमा या निकालना चाह रहे हों तो उन्हें बैंक न आना पड़े, वो अपने गाँव में ही बैठे-बैठे पैसे जमा व निकाल लें। इसके अलावा अगर कोई बुज़ुर्ग है और उसे बैंक आने में परेशानी हो रही है तो वो हमें फोन कर देते हैं और हम उसके घर चले जाते हैं और जो भी काम होता है कर देते हैं।"

बैंक ऑफ इंडिया की शाखा कुम्हरांवा के मैनेजर सौरभ सिंह ग्राहक सेवा केन्द्र के बारे में बताते हैं, ''बैंकों में भीड़ और उससे होने वाली परेशानियों को देखते हुए, ये सेवा केन्द्र खोले गए हैं, ताकि ग्राहकों परेशानी न हो, इन केन्द्रों की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा पर की जा रही है।" 

वो आगे बताते हैं, ''करीब तीन साल पहले बैंकों में बिजनेस कॉरेसपॉण्डेन्ट (कारोबार पत्राचार) रखे गये थे, उन्हीं को बैंक मित्र बना दिया गया है, जो ग्राहक सेवा केन्द्रों पर नियुक्त किए गए हैं। ग्राहक सेवा केन्द्र में वे सारे काम किए जाते हैं जो काम बैंकों में किए जाते हैं। ग्राहकों की परेशानी को कम करने को सभी बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र खोले रहे हैं।"

Tags:    India 
Share it
Top