अब मिड-डे मील बांटने में शिक्षक नहीं कर पाएंगे आनाकानी

अब मिड-डे मील बांटने में शिक्षक नहीं कर पाएंगे आनाकानीgaonconnection

शाहजहांपुर। गर्मी की छुट्टी में मिड-डे मील के वितरण न होने को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग ने नए निर्देश जारी किए हैं। अब प्रशासन के अधिकारी ये सुनिश्चित करेंगे कि स्कूलों में भोजन का वितरण हो रहा है या नहीं। शासन के निर्देशों पर गर्मी की छुट्टी में भी सरकारी स्कूलों में मिड-डे मील बांटने के निर्देश दिए गए थे।

इसके बाद भी कुछ शिक्षक विद्यालय में बच्चों की उपस्थिति शून्य दिखा रखे हैं तो कई जगह शिक्षक ही स्कूल नहीं आ रहे हैं लेकिन, अब शिक्षकगण मध्यान्ह भोजन वितरण में आनाकानी अथवा लापरवाही नहीं दिखा पाएंगे। 

विद्यालयों में ग्रीष्मावकाश के दौरान बच्चों की कम उपस्थिति को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। जिला अधिकारी पुष्पा सिंह ने मध्याह्न् भोजन योजना से आच्छादित विद्यालयों में ग्रीष्मावकाश में विद्यालयों का निरीक्षण करने के लिए जनपद स्तरीय तथा ब्लॉक स्तरीय टॉस्क टीम गठित कर दी है। जनपद के परिषदीय, राजकीय, अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा एक से आठ तक के छात्र-छात्रओं को मध्यान्ह भोजन का लाभ 30 जून तक दिया जाना है।

योजना के प्रभावी अनुश्रवण और क्रियान्वयन के लिए जनपद और ब्लॉक स्तरीय टॉस्क फोर्स का गठन कर दिया है। जिलाधिकारी ने टॉस्क फोर्स को बनवाए जा रहे मिड-डे-मील, बच्चों की उपस्थिति और भोजन की गुणवत्ता का समय-समय पर निरीक्षण एवं परीक्षण करने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि ग्रीष्मावकाश के प्रत्येक महीने कम-से-कम पांच विद्यालयों का निरीक्षण किया जाए। निरीक्षण आख्या कार्यालय में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिस विद्यालय में मध्यान्ह भोजन बनता न पाया जाए तो उसका कारण भी निरीक्षण आख्या में अंकित किया जाएं।

इनकी भूमिका होगी महत्वपूर्ण 

जिला स्तरीय टॉस्क फोर्स में मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला परियोजना अधिकारी, जिला विकास अधिकारी, समस्त उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी चयनित किये गए हैं।

टॉस्क फोर्स के नामित सदस्य 

ब्लॉक स्तरीय टॉस्क फोर्स के नामित सदस्य समस्त उप जिलाधिकारी अपनी-अपनी तहसील में, समस्त खंड शिक्षा अधिकारी और खंड विकास अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सहायक विकास अधिकारी पंचायत, समस्त नायब तहसीलदार, उप जिलाधिकारी द्वारा नामित अधिकारी, समस्त पूर्ति निरीक्षक अपने-अपने ब्लॉक और तहसील में निरीक्षण करेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top