अब नहीं पड़ेगा गरीबों की जेब पर डाका

अब नहीं पड़ेगा गरीबों की जेब पर डाकागाँव कनेक्शन

शुक्लागंज (उन्नाव)। शुक्लागंज नगर को सूबे के मुखिया अखिलेश यादव ने वर्ष 2013 में उन्नाव के बंदनपुरवा गाँव में पहुंच कर शुक्लागंज और आस-पास की आबादी को देखते हुए सीएचसी का तोहफा दिया था। कुछ दिनों बाद सीएचसी के  लिए ग्राम सभा मझरा पीपर खेड़ा एहतमाली के ठाकुरखेड़ा गाँव में जगह को चिन्हित किया गया। इस सीएचसी का निर्माण करीब तीन बीघा में किया जा रहा है। घोषणा के करीब दो माह बाद ही सीएचसी का निर्माण कार्य प्रारम्भ करा दिया गया था। 

वर्ष 2013 से लगातार चल रहे निर्माण कार्य के बाद अब सीएचसी का करीब 90 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। इस सीएचसी के निर्माण के लिए करीब नौ करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। वहीं नवम्बर माह में एक करोड़ 84 लाख रुपये का भुगतान भी किया जा चुका है। स्वास्थ विभाग इसे जल्द से जल्द शुरू कराने में लग गया है।

वर्तमान में सीएचसी भवन की देखरेख और निर्माण कार्य देखने वाले सुपरवाइजर ने बताया, ''भवन के निर्माण में पूरी तरह से नक्शे की मदद ली गई है, जिससे कि भवन निर्माण में आगे किसी भी प्रकार की समस्या से न जूझना पड़े।" सुपरवाइजर ने आगे बताया, ''सीएचसी निर्माण कार्य का करीब 90 प्रतिशत तक कार्य पूरा हो चुका है। शेष निर्माण कार्य को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए मजदूरों की संख्या बढ़ा दी गई, जिससे फरवरी माह में स्वास्थ विभाग को सीएचसी हैण्डओवर कर देंगे। जिससे मार्च माह तक स्वास्थ विभाग सीएचसी के लाभ को आम जनमानस तक पहुंचाने के लिए अपनी मूलभूत सुविधाओं को पूर्ण कर ले।" इस सीएचसी के आरम्भ होने के बाद क्षेत्र के करीब 20 लाख लोगों को स्वास्थ्य लाभ मिल सकेगा। 

शुक्लागंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा प्रभारी डॉ. आशुतोष वाष्णेय ने बताया, ''इस सीएचसी के बनने जाने के बाद से आस-पास के लोगों के लिए संजीवनी साबित होगी। इस अस्पताल में लोगों को आधुनिक तकनीकी की मदद से सरकारी दरों पर पूर्ण इलाज उपलब्ध कराया जायेगा। इस सीएचसी में लोगो को चौबीस घण्टे इलाज उपलब्ध कराया जायेगा।"

ये मिलेंगी सुविधाएं

एक्सरे, अल्ट्रासाउण्ड, 24 घण्टे डिलिवरी की सुविधा, मरीजों को भर्ती होने के लिए बेड की व्यवस्था, एम्बुलेंस की सुविधा, लेडी डॉक्टर की उपलब्धता, छह डॉक्टरों की सुविधा। 

इन क्षेत्रों को मिलेगा लाभ

शुक्लागंज, मझरा पीपर खेड़ा, कटरी पीपर खेड़ा, निहाल खेड़ा, आजाद नगर, सरैया, कटहा दलनारायणपुर, महेश खेड़ा, पोनी, गजियाखेड़ा, धनईया, सहजनी, देवारा खुर्द, देवारा कलां, जाजमऊ, बदरका, त्रिभुवन खेड़ा, सहित दो दर्जन से अधिक गाँव की जनता स्वास्थ्य सुविधाओं का सर्वाधिक लाभ ले सकेगी। इसके पहले इन लोगो को इलाज के लिए कानपुर, उन्नाव के तमाम निजी अस्पतालों के चक्कर लगाने पड़ते थे। 

अब नहीं पड़ेगा गरीबों की जेब पर डाका

ठाकुर खेड़ा में सीएचसी आरम्भ होने के बाद गरीबों की जेब पर डाका नही पड़ेगा। बता दे कि सीएचसी न होने से गरीब व्यक्ति निजी अस्पतालो में व तमाम झोलाछाप डाक्टरों के पास जाकर इलाज कराता है तो उसे तीन से चार गुना ज्यादा पैसे चुकाने पड़ते है। कई बार तो निजी अस्पतालों के दलाल इन लोगो को अपने झांसे में लेकर मामूली सी बीमारी के लिए लाखों रुपये तक     वसूल लेते है। 

रिपोर्टर- श्रीवत्स अवस्थी

Tags:    India 
Share it
Top