अब नकली पैन कार्ड बनवाया तो खैर नहीं!

अब नकली पैन कार्ड बनवाया तो खैर नहीं!Gaon Connection

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने एक ऐसी तकनीक इजाद कर ली है जिसकी मदद से नकली पैन कार्ड्स की झट से पहचान कर ली जाएगी। इस नई तकनीक की मदद से नकली पैन कार्ड्स को खत्म करने में भी मदद मिलेगी।

आयकर विभाग ने इलेक्ट्रानिक स्मार्ट प्लेटफार्म इंकम टैक्स बिजनेस एप्लीकेशन का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। ये एक ख़ास तरह का पोर्टल प्लेटफॉर्म है। इससे कर अधिकारियों और पैन जारी करने वालों को नकली पैन संख्या को पहचानने में मदद मिलेगी। इसके तहत जब भी आयकर विभाग द्वारा जारी विशेष पहचान संख्या के लिये नया आवेदन उनके इस पोर्टल पर पहुंचेगा, नकली पैन की पहचान करने में मदद मिलेगी।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ''पहले विभाग मैनुअल तरीके  से नकली पैन की पहचान करता था जो पूरी तरह दुरुस्त प्रणाली नहीं कही जा सकती। नई इलेक्ट्रानिक प्रणाली इस काम के लिये पूरी तरह उपयुक्त है।'' हालांकि पुराने पैन कार्ड के मामलों में मैनुअल प्रणाली जारी रहेगी। अधिकारी ने कहा, ''पुरानी प्रणाली से जुड़े  मामले बहुत ज्यादा नहीं है। जब भी सूचना मिलती है, ऐसे मामलों को पहचान कर उनका निपटान किया जाता है।''

विभाग पिछले कई साल से इस समस्या की बुराई पर लगाम लगाने के लिये कोशिश करता आ रहा है ताकि ये सुनिश्चित हो सके कि कोई भी इकाई दो पैन कार्ड के जरिये चोरी नहीं कर सके। पहले ऐसे कई मामले देखने को मिले थे जहां कर चोरी और कालाधन मामलों की जांच में जांचकर्ताओं ने पाया कि आर्थिक अपराध को अंजाम देने के लिये नकली पैन कार्ड का उपयोग किया गया।

Tags:    India 
Share it
Top