अब सारे पशुओं का होगा बीमा

अब सारे पशुओं का होगा बीमाgaonconnection

लखनऊ। अब गाय-भैंस के अलावा बैल, सांड, भेड़, बकरी, खच्चर, घोड़ा, गधा, ऊंट, खरगोश और सुअर का भी बीमा होगा। इन नए प्रावधानों के साथ प्रदेश सरकार की पशुधन बीमा योजना जुलाई तक सभी जिलों में लागू हो जाएगी। 

इस बीमा योजना के फायदे के बारे में उत्तर प्रदेश पशुधन विकास परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. बीबीएस यादव बताते हैं, ‘‘इस योजना में पहले केवल 50 प्रतिशत अनुदान केंद्र सरकार देती थी पर अब 25 प्रतिशत अनुदान राज्य सरकार भी देगी। ऐसे में पशुपालक को केवल 25 प्रतिशत ही देना होगा। ज्यादा पैसा लगाकर पशुपालक अपने पशु को खरीदता है और पशु की आकस्मिक मौत के कारण उसको काफी नुकसान होता है ऐसे में इस योजना से पशुपालकों को काफी लाभ मिल सकेगा।’’

19वीं पशुगणना के अनुसार उत्तर प्रदेश में कुल चार करोड़ 75 लाख पशुधन है। बजट में पशुओं में बीमा करने के लक्ष्य के बारे में सिंह बताते हैं, “इस बजट में एक लाख पशुओं का बीमा करने का लक्ष्य रखा गया है। अभी तक कुल तीस हजार पशुओं का ही बीमा हुआ है। पशुओं में बीमा कराने के लिए लोग जागरुक नहीं है इसी को देखते हुए इस योजना पर काफी जोर दिया गया है ताकि उनको मुआवजा मिल सके। इसके लिए भारत सरकार से पैसा मिल गया है, प्रदेश सरकार से पैसा मिलने पर इसको जुलाई के अंत से चालू किया जाएगा।’’ पुराने नियमों के अनुसार प्रदेश के जिन 39 जिलों में राष्ट्रीय पशुधन बीमा योजना चालू थी, वहां का कोई एक पशुपालक अधिकतम दो पशुओं (गाय और भैंस) का ही बीमा करा सकता था। 

बीमा के भुगतान के बारे में डॉ यादव बताते हैं, ‘‘पशुओं का बीमा कंपनी के ज़रिए कराया जाएगा। बीमित पशु के मरने के बाद पशुपालक को अपने नजदीकी पशुचिकित्सालय में सूचित करना होगा। पशुओं के पोर्स्टमार्टम के आधार पर ही उनको राशि दी जाती है।’’ उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने पांचवें बजट 2016-17 में इस बीमा योजना के लिए 18 करोड़ रुपए के बजट की व्यवस्था की है।

Tags:    India 
Share it
Top