सकारात्मक संकेतों के कारण सरसों और रिफाइंड सोया तेल की वायदा कीमतों में तेजी

सकारात्मक संकेतों के कारण सरसों और रिफाइंड सोया तेल की वायदा कीमतों में तेजी

नयी दिल्ली (भाषा)। हाजिर बाजार की मजबूत धारणा के बीच कारोबारियों द्वारा अपने सौदों का आकार बढ़ाने के कारण वायदा कारोबार में मंगलवार को सरसों की कीमत तीन रुपए की तेजी के साथ 4,172 रुपए प्रति कुंतल हो गयी। बाजार सूत्रों ने सरसों वायदा कीमतों में तेजी आने का श्रेय हाजिर बाजार में उत्पादक क्षेत्रों से सीमित आवक के बीच तेल मिलों की मांग में आयी तेजी को दिया। एनसीडीईएक्स में सरसों के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत तीन रुपए अथवा 0.07 प्रतिशत की तेजी के साथ 4,172 रुपए प्रति कुंतल हो गई जिसमें 60,790 लॉट के लिए कारोबार हुआ। इसी प्रकार सरसों के दिसंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत समान अंतर की तेजी के साथ 4,229 रुपए प्रति कुंतल हो गयी जिसमें 4,250 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

ये भी पढ़ें- नारियल का तेल जहर ?

रिफाइंड सोया तेल कीमत में 0.46 प्रतिशत की तेजी

हाजिर बाजार की मांग बढ़ने के कारण सटोरियों ने ताजा सौदों की लिवाली (खरीददारी) की जिससे वायदा कारोबार में मंगलवार को रिफाइंड सोया तेल की कीमत 0.46 प्रतिशत की तेजी के साथ 768 रुपए प्रति 10 किग्रा हो गयी। एमसीएक्स में रिफाइंड सोया तेल के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 3.55 रुपए अथवा 0.46 प्रतिशत की तेजी के साथ 768 रुपए प्रति 10 किग्रा हो गयी जिसमें 34,880 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

ये भी पढ़ें- इस मशीन से निकाल सकते हैं 10 तिलहनी फसलों का तेल

इसी प्रकार रिफाइंड सोया तेल के अक्टूबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 70 पैसे अथवा 0.09 प्रतिशत की तेजी के साथ 755.50 रुपए प्रति 10 किग्रा हो गयी जिसमें 9,930 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों के अनुसार उत्पादक क्षेत्रों से आवक घटने के कारण कम स्टॉक रहने के मुकाबले मांग बढ़ने के कारण व्यापारियों की ताजा लिवाली से मुख्यत: यहां वायदा कारोबार में रिफाइंड सोया तेल कीमतों में तेजी आयी।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top