महाराष्ट्र के सोयाबीन किसानों के लिए अच्छी खबर, खली खरीदेगा चीन

महाराष्ट्र के सोयाबीन किसानों के लिए अच्छी खबर, खली खरीदेगा चीन

लखनऊ। चीन ने महाराष्ट्र से सोयाबीन खली खरीदने की इच्छा जतायी है। इसका निर्यात बढ़ने से किसानों को उनकी फसल की बेहतर कीमत मिल सकती है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि चीन के महावाणिज्य दूत तांग गोचई ने सोमवार को इस सिलसिले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की और कहा कि चीन महाराष्ट्र से कृषि उत्पादों का आयात करने और कृषि क्षेत्र में निवेश करने पर भी विचार कर रहा है।

ये भी पढ़ें- 'पीला सोना' से क्यों दूर होते जा रहे मध्य प्रदेश के किसान ?

फडणवीस ने कहा कि इस मुद्दे पर चीन से बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए अलग से एक अधिकारी तैनात किया जाएगा। सोयाबीन की खेती करने वाले किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए केंद्र पहले ही 10 प्रतिशत निर्यात संवर्धन प्रोत्साहन (सब्सिडी) की घोषणा कर चुका है। फडणवीस ने कहा कि यह नश्चिति रूप से सोयाबीन उत्पादकों को अच्छी कमाई करने में मदद करेगा क्योंकि निर्यात से घरेलू बाजार में भी इसकी मांग बढ़ेगी।

राज्य के कृषि विभाग के एक वरष्ठि अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि सोयाबीन बाजार बढ़ने से किसानों को लाभ होगा। उन्होंने कहा, "एक क्विंटल सोयाबीन से 18 किलो तेल और 82 किलो खली निकलती है। इसलिए किसानों के लिए खली की कीमत तेल से ज्यादा है।" अधिकारी ने कहा कि केंद्र ने भी सोयाबीन और कच्चा पाम तेल समेत विभिन्न तेल को आयात शुल्क बढ़ा दिया है। इससे भी स्थानीय किसानों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि यदि सोयाबीन बाजार में तेजी जारी रहती है तो इससे किसानों को बेहतर आय में मदद मिल सकती है।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश के सोयाबीन किसानों पर मौसम की मार, मुआवजे के लिए जल सत्याग्रह

मध्य प्रदेश में इस साल सोयाबीन का रकबा बढ़ा है। वहां 44.41 लाख हेक्टेयर में सोयाबीन लगाया गया है जबकि महाराष्ट्र में 32.13 लाख हेक्टेयर और राजस्थान में 9.45 लाख हेक्टेयर है।

(भाषा से इनपुट)


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top