एग्री बिज़नेस

मेगा फूड पार्क किसानों के लिए एक सौगात: हरसिमरत  

जयपुर (भाषा)। केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि ग्रीनटेक मेगा फूड पार्क के माध्यम से किसान ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट से जुड़ पाएंगे और किसान देश की लगभग 550 मण्डियों में अपने उत्पाद बेच सकेंगे।

अजमेर जिले के रूपनगढ़ में केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल एवं राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने ग्रीनटेक मेगा फूड पार्क का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए आवश्यक है कि किसानों को प्रौद्योगिकी आधारित खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। किसान का परिवार एक स्वयं सहायता समूह की तरह कार्य करें। जीरो टोलरेंस ऑन फूड वैस्टेज की नीति अपनाते हुए उत्पादित पूरे खाद्यान को थाली तक पहुंचाया जाना सुनिश्चित किया जाए।

हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि यह मेगा फूड पार्क नौजवानों, किसानों, महिलाओं एवं उद्यमियों के लिए एक सौगात है। किशनगढ़ की मार्बल मण्डी विश्वविख्यात है। रूपनगढ़ भी खाद्य प्रसंस्करण के माध्यम से तीन साल के भीतर विश्व पटल पर अपनी पहचान बनाएगा। कृषि का उत्पादन ऋतु आधारित होता है।

बादल ने कहा कि रूपनगढ़ में मेगा फूड पार्क की केन्द्रीय प्रोसेसिंग हब होगा। इसके प्राइमरी प्रोसेसिंग यूनिट चुरू, जयपुर, टोंक एवं नागौर में विकसित किए जाएंगे। इससे किसानों को लाभ मिलेगा। वर्तमान सरकार द्वारा गत चार वर्षों में 11 पार्क आरम्भ किए जा चुके हैं। इस वर्ष 10 और फूड पार्क शुरू हो जाएंगे। शेष मेगा फूड पार्कों को भी आगामी 6 माह में पूर्ण किया जाएगा।

हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि केन्द्र सरकार 10 एकड़ की भूमि पर मिनी फूड पार्क की स्थापना पर 10 करोड़ रुपए की सब्सिडी देगी। इसमें स्थापित उद्यमों को भी 5 करोड़ रुपए तक की सब्सिडी प्राप्त होगी। इसके लिए कोई भी उद्यमी एवं किसान समूह बनाकर आवेदन कर सकते हैं। इस अवसर पर साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि किसानों के द्वारा उत्पादित फसलों की बर्बादी रोक कर प्रधानमंत्री का किसानों की आय दोगुनी करने का सपना साकार किया जा सकता है।

एग्री बिजनेस से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इनपुट भाषा

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।