अक्टूबर से बदलेगा यूपी पुलिस का चेहरा

अक्टूबर से बदलेगा यूपी पुलिस का चेहरागाँव कनेक्शन

भदोही/लखनऊ। प्रदेश की पुलिस का चेहरा अक्टूबर से बदला-बदला सा नज़र आएगा। अब विदेशों की तर्ज़ पर घटनास्थल पर पुलिस महज 15 मिनट में ही पहुंचेगी। 

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भदोही में कहा, “सरकार अक्टूबर से कानून-व्यवस्था में बड़ा बदलाव करने जा रही है। कोई घटना होने पर जिस तरह विदेश में पुलिस को त्वरित गति से पहुंचते हुए दिखाया जाता है, ठीक वैसे ही यूपी पुलिस भी 15 मिनट में कहीं भी पहुंचेगी। इसके लिए वाहनों की व्यवस्था की जा रही है।”

वहीं, लखनऊ में मुख्य सचिव ने पुलिस बल के आधुनिकीकरण के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश देते हुए राज्य स्तरीय प्राधिकार समिति में पुलिस विभाग के प्रस्तावों को मंजूरी दे दी। पुलिस आधुनिकीकरण योजना 2016-17 के अन्तर्गत कुल 11715.22 लाख रुपये का मूल प्रस्ताव तथा 56222.23 लाख की लागत का अतिरिक्त प्रस्ताव केन्द्र को भेजा जाएगा। 

मुख्य सचिव ने कहा, “पुलिस गतिशीलता में बढ़ोत्तरी के लिए वाहनों की खरीद के अलावा अत्याधुनिक अस्त्र-शस्त्र और नवीनतम दूरसंचार उपकरणों की व्यवस्था नियमानुसार की जाए।” मुख्य सचिव ने 221 नाइन एमएम पिस्टल तथा 5.56 एमएम एक्स कैलिवर रायफल 168 42 फॉरेन्सिक मोबाइल लैब वैन, 67 लैब वैन में फैब्रिकेशन और किट उपकरणों की फिटिंग के लिए भी 673.73 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान करते हुए खरीद प्रक्रिया तत्काल शुरु करने के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने विवेचना मे वैज्ञानिक साक्ष्यों को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा बडे स्तर पर की जा रही विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं की स्थापना तथा उनके लिये जरूरी अत्याधुनिक उपकरण आदि कीव्यवस्था भी कराये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से कराने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पंडा ने कहा, “पुलिस विभाग की अवस्थापना सुविधाओं को मजबूत करने के लिए थानों एवं पुलिस विभाग के कार्यलयों के प्रशासनिक भवन आदि के निर्माण कार्य को प्रस्ताव  में प्राथमिकता दी गई है।पुलिसकर्मियों को बेहतर ट्रेनिंग दी जाएगी।

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top