Top

अठावले जैसे लोग BJP के हाथों खेल कर दलित हितों को पहुंचा रहे नुकसान: मायावती

अठावले जैसे लोग BJP के हाथों खेल कर दलित हितों को पहुंचा रहे नुकसान: मायावतीgaonconnection

लखनऊ (भाषा)। बसपा (BSP) मुखिया मायावती ने केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले पर आरोप लगाया है कि वे भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों खेलकर दलित समाज के हित को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

मायावती ने आज यहां जारी बयान में कहा, ‘‘दलित मतदाताओं को बांटने और उन्हें अन्य दलों का पिछलग्गू बनाये रखने की नीयत से BJP और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में गुलाम मानसिकता के कुछ लोगों को हाल ही में मंत्री बना दिया है, जिनमें RPI के नेता रामदास अठावले भी शामिल हैं।'' अठावले ने टिप्पणी की थी कि यदि मायावती सच्ची अम्बेडकरवादी हैं तो वे अब तक हिन्दू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म स्वीकार क्यों नहीं किया। इस पर BSP मुखिया ने कहा कि उनका यह कथन जानकारी की कमी दर्शाता है और लोगों को भड़काने की कोशिश लगता है।

मायावती ने सविस्तार कारण बताते हुए कहा कि अम्बेडकर और BSP संस्थापक कांशीराम द्वारा अपने जीवन के अन्तिम चरण में बौद्ध धर्म स्वीकार किया था। उन्होंने अठावले पर BJP के हाथों खेलने का आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपनी हार की आशंका के चलते BJP धर्म की आड़ में राजनीति कर रही है और इसी नीयत से उसने हाल ही में ‘बौद्ध धम्म यात्रा' शुरु की है।

मायावती ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और नरेन्द्र मोदी ने अपने राजनीतिक हित साधने की नीयत से ही बौद्ध धर्म की सराहना शुरु की है। हालांकि वे बौद्ध धर्म की शिक्षाओं को नहीं मानते और उन्हें मानने वालों पर अत्याचार करने वालों को ही संरक्षण देते हैं।

BSP मुखिया ने कहा कि लोगों को ऐसी ताकतों से सावधान रहने की जरुरत है जो आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दलित मतदाताओं में विभाजन की साजिश कर रहे हैं। अठावले द्वारा गुजरात में गोरक्षा के नाम पर दलितों के उत्पीड़न की घटनाओं पर सवाल उठाने के प्रश्न पर मायावती ने कहा कि इसका जवाब तो उन्हें अपनी सरकार के नेता नरेन्द्र मोदी से ही मांगना चाहिए।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.