अवैध कब्जा: सूखी झील पर लोग कर रहे खेती

अवैध कब्जा: सूखी झील  पर लोग कर रहे खेतीgaonconnection

प्रतापगढ़। दाऊदपुर झील जो लगभग 320 बीघे में फैला है जिस झील में कभी कमल खिलते थे, देश-विदेश के पक्षी झील की शोभा बढ़ाते थे। बाहर से पर्यटक नौका बिहार व मछली का शिकार करने आते थे। झील के पानी के कारण आस-पास के कुंओं व नलकूपों का जलस्तर ऊपर था, वही झील आज सूखी पड़ी है। लोग खाली जमीन पर खेती कर रहे हैं और सरकारी अमला खामोश है। 

भारत वर्मा (53 वर्ष) ने बताया कि जनपद मुख्यालय से 40 किमी पूरब तहसील पट्टी के दाऊदपुर गांव में गाटा संख्या-376 पर दर्ज है। इस झील में काफी दिनों से बरसात न होने के कारण पानी बिल्कुल नहीं रह गया था। झील के सूख जाने के कारण खाली जमीन पर लोग खेती कर रहे हैं। मृत्यु के कगार पर पहुंची झील को बचाने के लिए शासन-प्रशासन किसी के हाथ नहीं उठे। यही हाल पट्टी तहसील के आस-पास झील के सहायक तालाबों का भी है।

दाऊदपुर के प्रधान हरीपुर स्टेट के कुंवर रोहित सिंह 35 वर्ष ने गांव कनेक्शन को बताया कि उनके बाबा राय विश्वनाथ प्रताप सिंह ने शिलिंग व चकबन्दी के पूर्व उक्त अराजी से 28 बीघे जमीन गंगादास आश्रम को दान कर दिया था, जो आज भी सरकारी अभिलेखों मे दर्ज है। झील के किनारे बना ये आश्रम लोगों के आस्था का केन्द्र भी बन गया है।

हरीपुर स्टेट में ज़मीन को शिलिंग से बचाने के लिए कुछ और लोगों को जमीन पट्टे पर दिये गये थे, जिसके अधार पर इस नम्बर में झील के किनारे बसे गांव  पर खेती कर झील की सुन्दरता को खत्म करते जा रहे हैं।

गांव कनेक्शन टीम ने आस-पास के कुछ गांवों का दौराकर तालाबों की पड़ताल किया तो स्थिति बद से बदतर दिखी। पट्टी तहसील के 03 किमी पश्चिम सहसपुर गांव में कुल सात तालाब क्रमशः गाटा संख्या-33 रकबा-0.98, 51-0.316, 178-0.038, 179-0.38, 198-0.946, 157-0.190, 180-0.897 इस प्रकार सभी सातों तालाबों का रकबा 2.523 हेक्टेयर है।

गाँव के रामबली तिवारी एडवोकेट (52 वर्ष) का कहना है कि माननीय उच्चन्यायालय के सख्त आदेश के बावजूद भी लोगों ने तालाबों पर अवैध कब्जा कर खेती कर रहे हैं। शासन-प्रशासन मूकदर्शक बना है।

गाँव के ही जनार्दन प्रसाद तिवारी (50 वर्ष) का कहना है कि लोगों ने गांव के तालाबों पर अवैध रूप से कब्जा कर रखा है, तालाबों में पानी के ठहराव न होने से गांव के अधिकांश कुंए व हैण्डपम्प सूख गये हैं। उड़ैयाडीह गांव तालाब गाटा संख्या-55 पर लोगों ने कब्जा कर आवासीय रूप दे दिया है जो शेष बची हुई जमीन है उस पर भी भू-माफियाओं की नजर लगी हुई है।

इस सम्बन्ध में क्षेत्रीय लेखपाल रामआसरे यादव से बात की गई तो उन्होंने कहा कि शिकायत मिली है जांच के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।  

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top