टोल फ्री नम्बर तो है लेकिन जानकारी नहीं 

टोल फ्री नम्बर तो है लेकिन जानकारी नहीं अभिभावकों के साथ ही साथ शिक्षकों के लिए भी एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया था जिसमें शिक्षक अपने विभाग से सम्बन्धित समस्याओं को हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से बेसिक शिक्षा विभाग को अवगत करा सकते हैं।

गाँव कनेक्शन संवाददाता

लखनऊ। सरकारी विद्यालयों में शिक्षा में गुणवत्ता व पारदर्शिता लाने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने अभिभावकों और शिक्षकों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया था, जिसके अंतर्गत अभिभावक अपने बच्चों की पढ़ाई से सम्बंधित सारी गतिविधियां जैसे समय पर शिक्षक आ रहा है या नहीं, स्कूल में पढ़ाई होती है या नहीं आदि जानकारी सीधे विभाग को दे सकते हैं। लेकिन जानकारी न होने के कारण अभिभावक इसका इस्तेमाल नहीं कर पा रहे है।

अभिभावकों के साथ ही साथ शिक्षकों के लिए भी एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया था जिसमें शिक्षक अपने विभाग से सम्बन्धित समस्याओं को हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से बेसिक शिक्षा विभाग को अवगत करा सकते हैं। यदि शिक्षक विद्यालय में अनुपस्थित रहते हैं या विद्यार्थियों को पढ़ाने में लापरवाही करते हैं तो अभिभावक हेल्पलाइन नंबर के जरिये शिकायत दर्ज करा सकते हैं। शिकायत पर तत्काल प्रावधान से कार्यवाही की जाएगी।

लखनऊ से लगभग 40 किमी दक्षिण दिशा में दक्खिन टोला गाँव के ज्यादातर घरों के बच्चे सरकारी स्कूल में पढ़ने जाते हैं लेकिन वहां के किसी भी अभिभावक को इस हेल्पलाइन नम्बर की जानकारी नहीं है।

शिक्षकों और अभिभवकों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नम्बर जारी किए गए थे लकिन जागरुकता कम होने के कारण बहुत कम अभिवावक ही इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि एक शिकायत पर एक विद्यालय से 2 अध्यापकों को हटाया जा सकता है। अभी तक जितने भी फोन आए हैं उन पर त्वरित कार्यवाही की गई है।
प्रवीणमणि त्रिपाठी, बेसिक शिक्षा अधिकारी

अभिवावकों के लिए हेल्पलाइन नम्बर

बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा अभिभावकों के लिए हेल्पलाइन नंबर 05248-222922 जारी किया गया है। इस नंबर पर अभिभावक सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक फोन कर शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। इस व्यवस्था से सरकारी विद्यालयों से गायब रहने वाले शिक्षकों पर लगाम लगेगी साथ ही पढ़ाई के स्तर में भी सुधार आएगा।

स्कूल में होना था प्रसार-प्रसार

अभिभावक और शिक्षकों तक इस टोल-फ्री नंबर की पहुंच आसान हो, इसके लिए जिले के प्रत्येक परिषदीय स्कूल में प्रधानाध्यापक कक्ष के बाहर टोल-फ्री नंबर को दीवार पर बड़े-बड़े अंकों में लिखवाना होगा। कंट्रोल रूम के कर्मचारी भी अभिभावकों को पूछने पर अपना नाम बताएंगे।

शिक्षकों के लिए हेल्पलाइन नम्बर

शिक्षकों के लिए अपनी समस्याओं को बेसिक शिक्षा विभाग को अवगत कराएं इस नंबर पर

05248- 220990

शिक्षक भी अपनी समस्या सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक कर सकते हैं।

ऐसा तो हमें कुछ नहीं पता, न स्कूल की तरफ ये जानकारी दी गई। बच्चे पढ़ने जाते हैं, बस नाम के लिए मजबूरी है गरीबी है तो पढ़ा रहे हैं वरना यहां पढ़ने ही न देते।
रामकुमार, निवासी टोला गाँव

फर्जी शिकायत करने वाले पर होगी कार्रवाई

शासन ने साफ किया है कि यदि कोई भी अभिभावक इस टोल-फ्री नंबर के माध्यम से गलत शिकायत देगा या फिर शौक के लिए फोन करके अपना और विभाग का समय बर्बाद करेगा, तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top