बच्चों को रोचक ढंग से पढ़ाने की तैयारी

बच्चों को रोचक ढंग से पढ़ाने की तैयारीgaoconnection

लखनऊ। नए और रोचक ढंग से बच्चों को कैसे पढ़ाया जाए, इसके लिए गुरुवार को बिछिया ब्लॉक के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में युगांडा की टीम ने आकर सुझाव दिए।

सरकारी स्कूलों में बच्चों का रुझान पढ़ाई की ओर बढ़े, इसके लिए सूक्ष्म नवाचार (माइक्रो इनोवेशन) के माध्यम से प्रदेश के छह जि़लों में बच्चों को पढ़ाने की तैयारी है। बेसिक शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को रोचक ढंग से बच्चों को पढ़ाने की योजना बनाई है। एससीईआरटी (स्टेट काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग) ने एनजीओ एसटीआईआर (स्कूल टीचर इनोवेशन एंड रिसर्च) के माध्यम से इस कार्यक्रम को शुरू किया है। प्रदेश के छह जिलों लखनऊ, उन्नाव, कानपुर, रायबरेली, बनारस, जौनपुर और फैजाबाद में सभी ब्लॉकों पर दो दिन का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। 

स्टर एजुकेशन संस्था की अगुवाई में  युगांडा से आई टीम ने एजुकेशन लीडर डॉ.रश्मि तिवारी के विद्यालय उच्च प्राथमिक स्कूल मूलंजानगर पहुंची और उनके द्वारा कक्षा में लागू किये गये नवाचारों और छात्रों के सीखने पर उनके प्रभावों को समझने की कोशिश की। इसके बाद यह टीम एजुकेशन लीडर श्रुति सिंह एवं सविता सैनी द्वारा आयोजित की गई बैठक में क्वालिटीपरक शिक्षा बच्चों को कैसे मिले, पर चर्चा की गई। इसके बाद टीम ने बेसिक शिक्षा अधिकारी कौस्तुभ कुमार सिंह एवं समस्त ब्लॉक के खण्ड शिक्षा अधिकारियों से इस संबंध में बातचीत की। स्टर एजुकेशन की यूगांडा टीम से रेन (एम. एंड ई. लीड) एवं ब्रेंडा(एम. एंड ई. अधिकारी)  एवं भारतीय टीम से परविंदर सिंह एवं तनुश्री (एम. एंड ई.), आशीष शर्मा, श्वेता त्रिपाठी एवं विशाल कश्यप (एससीईआरटी एवं स्टर एजुकेशन) उपस्थित रहे |

Tags:    India 
Share it
Top