भारत के चावल उत्पादन अनुमान में 35 लाख टन की कमी: रिपोर्ट

भारत के चावल उत्पादन अनुमान में 35 लाख टन की कमी: रिपोर्टगाँव कनेक्शन

लखनऊ। साल 2015-16 के दौरान भारत में चावल उत्पादन को लेकर अमेरिकी कृषि विभाग यानि यूएसडीए ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि 2015-16 सीजन के दौरान भारत में चावल उत्पादन घटकर 10 करोड़ टन रह आ सकता है।

इससे पहले नवंबर में जारी रिपोर्ट में चावल का उत्पादन 10.35 करोड़ टन होने का अनुमान लगाया गया था। यानि सीधे-सीधे उत्पादन अनुमान में 35 लाख टन की कटौती की गई है। यूएसडीए के मुताबिक साल 2014-15 के दौरान भारत में चावल का उत्पादन 10.48 करोड़ टन और साल 2013-14 के दौरान उत्पादन रिकॉर्ड स्तर यानि 10.66 करोड़ टन हुआ है।

देश के कृषि मंत्रालय द्वारा जारी किए गए पहले एडवांस अनुमान में भी इस साल उत्पादन कम रहने की आशंका को बढ़ावा मिल रहा है। कृषि मंत्रालय के पहले एडवांस अनुमान के मुताबिक साल 2015-16 के खरीफ सीजन में चावल का उत्पादन घटकर 9.06 करोड़ टन अनुमानित है, रबी सीजन में पैदा होने वाले चावल के लिए 1.4 करोड़ टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है लेकिन अब तक हुई रबी की बुआई में धान का रकबा पिछले साल के मुकाबले करीब 22 फीसदी पिछड़ा हुआ है, चार दिसंबर तक देशभर में रबी धान का रकबा सिर्फ 8.70 लाख हेक्टेयर दर्ज किया गया है जबकि पिछले साल इस दौरान 11.15 लाख हेक्टेयर में धान की खेती हुई थी।

भारतीय कृषि मंत्रालय फरवरी में दूसरा एडवांस अनुमान जारी करेगा और उसमें खरीफ सीजन के उत्पादन को लेकर ज्यादा सटीक आंकड़े सामने आ सकते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top