भारत की पहली तीन महिला पायलट फाइटर स्क्वॉड्रन में हुई शामिल

भारत की पहली तीन महिला पायलट फाइटर स्क्वॉड्रन में हुई शामिलgaonconnection

हैदराबाद (भाषा)। भारतीय वायुसेना ने एक नया इतिहास रचते हुए आज अवनी चतुर्वेदी, भावना कंठ और मोहना सिंह को प्रथम महिला फायटर पायलटों के रुप में औपचारिक रुप से कमीशन प्रदान कर दिया।

सशस्त्र बलों में लैंगिक समानता के प्रयासों को आगे बढ़ा रहे रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने शहर के बाहरी क्षेत्र डुंडीगल में स्थित वायुसेना अकादमी में आयोजित संयुक्त ग्रेजुएशन समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में भाग लेते हुए इस आयोजन को एक उपलब्धि बताया और कहा कि यह पहली बार है कि महिलाओं को युद्धक भूमिका दी गयी है।

उन्होंने कहा, ‘‘यह स्वर्णिम अक्षरों वाला दिन है।'' साथ ही उन्होंने दावा किया आने वाले वर्षों में सशस्त्र बलों में कदम दर कदम पूर्ण लैंगिक समानता हासिल की जाएगी।

पर्रिकर ने कहा, ‘‘कुछ तकनीकी एवं प्रशासनिक कठिनाइयां हैं जिनका हमें चंद क्षेत्रों में सामना करना पड़ सकता है। लिहाजा कदम दर कदम हम यह देखेंगे कि इस समानता को उपलब्ध किया जा सके। संख्या इस बात पर निर्भर करेगी कि हमारी आधारभूत सुविधाओं को देखते हुए हम कितनों को समायोजित कर सकते हैं।''        

प्रसन्नता व्यक्त करते हुए तीनो महिला पायलटों ने कहा कि वे अपने को सौभाग्यशाली समझती हैं और अपने दायित्वों को संभालने को लेकर उत्साहित हैं। इन तीनों ने भारतीय वायुसेना की विभिन्न शाखाओं में फ्लाइट कैडेटों द्वारा कमीशन पूर्व विभिन्न प्रशिक्षणों को सफलतापूर्वक पूरा किया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top