भारत में सामान्य और अधिक बारिश होने की संभावना 92 प्रतिशत

भारत में सामान्य और अधिक बारिश होने की संभावना 92 प्रतिशतgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। भारत में इस मौसम में सामान्य और अधिक बारिश होने की संभावनाएं 92 प्रतिशत हैं जहां मध्य भारत में अच्छी बारिश आ सकती है वहीं बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में कम वर्षा की संभावना है।

जून, जुलाई, अगस्त और सितंबर में बारिश के मामले में तमिलनाडु, पूर्वोत्तर भारत और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक मामूली जोखिम पर रहेंगे।

स्काईमेट ने मॉनसून के अपने दूसरे पूर्वानुमान में कहा, ‘‘मध्य भारत और पश्चिमी तट पर अच्छी बारिश हो सकती है। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में अधिक बारिश हो सकती है तो वहीं बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ भागों में कम बारिश हो होने का अनुमान है। मॉनसून के दूसरे आधे हिस्से में पहले अर्द्धांश की तुलना में बेहतर बारिश होगी।''     

भारत में जून में सामान्य बारिश होने की संभावना 50 प्रतिशत है वहीं जुलाई और अगस्त में यह आंकड़ा 60 प्रतिशत हो जाएगा। सितंबर में भारत में सामान्य बारिश होने की संभावनाएं 40 फीसद हैं और सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना 50 प्रतिशत हैं।

स्काईमेट ने कहा, ‘‘पूरे मौसम में सबसे अधिक बारिश की संभावना 25 प्रतिशत, सामान्य से अधिक बारिश की संभावना 37 प्रतिशत और सामान्य बारिश की संभावना 30 प्रतिशत है।''     

स्काईमेट के सीईओ जतिन सिंह ने कहा, ‘‘अल नीनो का असर कम हो रहा है और मॉनसून की शुरुआत के साथ यह समाप्त हो जाएगा। मॉनसून के प्रदर्शन पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की आशंका नहीं है।'' गौरतलब है कि स्काईमेट ने पूर्वानुमान लगाया है कि केरल में मॉनसून 28 और 30 मई के बीच आएगा वहीं भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि मॉनसून आने की तारीख सात जून के आसपास होगी। मॉनसून आने की सामान्य तारीख एक जून मानी जाती है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top