बिहार चुनाव : महागठबंधन की महाजीत, भाजपा हाशिये पर

बिहार चुनाव : महागठबंधन की महाजीत, भाजपा हाशिये पर

बिहार| बिहार विधानसभा चुनाव में बंपर जीत हासिल करने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह बिहार की भावना और स्वाभिमान की जीत है| इन नतीजों का राष्ट्रीय स्तर पर प्रभाव पड़ेगा|

“मैं इस जीत के लिए बिहार के मतदाताओं को धन्यवाद देता हूं। हमें सभी वर्गों का समर्थन मिला है। सभी तबके ने महागठबंधन को समर्थन किया है। हम मिलजुलकर एक सकारात्मक सोच के साथ काम करेंगे। किसी के प्रति दुर्भावना नहीं रखेंगे। हम विपक्ष का सम्मान करेंगे। इस चुनाव पर देश भर की निगाहें टिकी हुई थीं।” जदयू, राजद और कांग्रेस की साझा प्रेस कांफ्रेंस में नीतीश ने रविवार को कहा|

बिहार चुनावों में जनता नें जदयू, राजद और कांग्रेस के गठबंधन को भरी बहुमत से जिताया है| राज्य की 243 विधानसभा सीटों में से महागठबंधन के पाले में 178 सीटें आयीं, जबकी भाजपा 58 सीटों पर ही सिमट कर रह गयी| सात सीटें ‘अन्य’ वर्ग के पाले में गयीं|

प्रेसवार्ता में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा, “बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनेगी। हम अब केंद्र की सरकार के लिए चुनौती पेश करेंगे। इस जीत के बाद हम दिल्ली पर चढ़ाई करेंगे। सबसे पहले हम बनारस में जाएंगे।”

लगातार तीसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री बनने जा रहे नीतीश कुमार ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाले राजग द्वारा आक्रामक प्रचार किये जाने और चुनाव में ध्रुवीकरण के प्रयासों के बावजूद लोगों ने जो भारी जनादेश महागठबंधन को दिया है, इससे पता चलता है कि सभी वर्ग के लोगों की उनसे कुछ अपेक्षाएं हैं और उन्हें पूरा करने के लिए वह अपनी तरफ से भरपूर प्रयास करेंगे।

नीतीश ने केंद्र में मजबूत विपक्ष के लिए गैर भाजपाई दलों को एकसाथ आने का सुझाव दिया| उन्होंने कहा कि बिहार चुनाव का राष्ट्रीय महत्व है और अब जरूरी हो गया है कि वे एक मजबूत विकल्प देने के लिए साथ काम करें।

नीतीश ने कहा कि बिहार चुनाव के नतीजों का राष्ट्रीय स्तर पर प्रभाव पड़ेगा क्योंकि देश भर की निगाहें इस पर टिकी थीं। परिणाम से यह स्पष्ट हो गया है कि लोग राष्ट्रीय स्तर पर एक मजबूत विपक्ष और मजबूत विकल्प चाहते हैं। 

कुमार ने कहा कि नयी सरकार के गठन की प्रक्रिया के तहत जल्द ही महागठबंधन में शामिल दलों के विधायकों की अलग से और एकसाथ बैठक होगी। नयी सरकार की प्राथमकिताओं के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उनके संयुक्त घोषणा पत्र में इनका उल्लेख पहले ही किया जा चुका है और समावेशी विकास की अपनी दृष्टि पर बल दिया।

फोटो सौजन्य - ज़ी न्यूज़

Tags:    India 
Share it
Top