बीमार पशुओं की जांच के लिए खुलेंगी प्रयोगशालाएं

बीमार पशुओं की जांच के लिए खुलेंगी प्रयोगशालाएंगाँव कनेक्शन

लखनऊ। अब बीमार पशुओं की जांच के लिए पशुपालकों को सैंपल लेकर इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा क्योंकि 65 जिलों में पशुओं की जांच के लिए प्रयोगशालाएं स्थापित होने जा रही हैं।

इसके लिए कृषि उत्पादन आयुक्त प्रवीण कुमार ने पशुधन विकास विभाग के 26.86 करोड़ रुपए के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इन प्रयोगशालाओं को पशु अस्पतालों में खोला जाएगा। प्रत्येक प्रयोगशाला पर 41.33 लाख रुपए की लागत आएगी। 

पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ. राजेश वाष्र्णेय ने बताया कि प्रयोगशाला खुलने से पशुपालकों को अपने पशु की खून की जांच, पेशाब की जांच के लिए सैंपलों को भेजना नहीं पड़ेगा, बल्कि अपने ही ज़िला में स्थापित प्रयोगशाला में जांच करा सकते हैं। जैसे ही बजट आएगा प्रयोगशाला बनाने का काम शुरु कर दिया जाएगा।

प्रवीण कुमार ने कृषि, पशुधन, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण,मत्स्य, गन्ना, पीसीडीएफ, रेशम, आदि कई विभागों की योजनाओं की समीक्षा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में गठित स्टेट लेवल प्रोजेक्ट स्क्रीनिंग कमेटी के तहत की। इसके अलावा राज्य के सभी ज़िलों में बकरी पालन स्कीम चलाने के लिए 2.37 करोड़ रुपए और इटावा के जमनापरी बकरी फार्म भेड़ एवं बकरी परीक्षण केंद्र के लिए 5.75 करोड़ रुपए के प्रस्ताव जारी किया। इसके साथ जो किसान अन्ना प्रथा को रोकने के लिए सहयोग कर रहे हैं उनको पुरुस्कृत करने का निर्णय भी लिया। अन्ना प्रथा को रोकने के लिए 5,706 किसान सहयोग कर रहे हैं।

First Published: 2016-09-16 16:04:16.0

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top