बीमारियों को जान ले तो नुकसान से बच सकते हैं मछली पालक

बीमारियों को जान ले तो नुकसान से बच सकते हैं मछली पालकगाँव कनेक्शन

बाराबंकी। मछलियों में कई तरह की बीमारियां होती हैं अगर मछली पालक पहले से ही इन बीमारियों को जान और समझ लें तो वे खुद को बड़े नुकसान से बचा सकते हैं। राष्ट्रीय मत्स्य आनुवांशिक संस्थान के वैज्ञानिक डॉ. एस रायजादा ने कहा। 

बाराबंकी जिले के स्थानीय विकास खंड बंकी के सभागार में राष्ट्रीय मत्स्य आनुवांशिक संस्थान ब्यूरो, लखनऊ व मत्स्य पालक विकास अभिकरण, बाराबंकी के साझा प्रयासों से एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। 'जलीय जंतुओं में होने वाली बीमारियों की निगरानी हेतु राष्ट्रीय कार्यक्रम विषय पर आयोजित इस बैठक में मछली पालकों को योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई ताकि वह इन योजनाओं का लाभ उठा सकें। कार्यक्रम में लगभग दो सौ किसान शामिल हुए। 

कार्यक्रम में संस्थान के वैज्ञानिक डॉ.एस. रायजादा, डॉ. नीरज सूद, डॉ.पी.के प्रधान, डॉ. एस. के सिंह व डॉ. अखिलेश यादव द्वारा पालकों को विभिन्न मात्स्सिकी तकनीक, मत्स्य रोग व उसकी रोकथाम तथा मत्स्य रोग के राष्ट्रीय कार्यक्रमों के बारे में बताया गया। 

इसके साथ कार्यक्रम में मौजूद फैजाबाद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वीके दुबे, बाराबंकी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मो. आफाक खां, मत्स्य निरीक्षक रमेश चंद्र और हंसनाथ प्रसाद ने मत्स्य पालकों की समस्याओं के निराकरण की विधियों पर विस्तार से बात की।

Tags:    India 
Share it
Top