बनारस के लोग खरीद रहे ऑनलाइन सब्ज़ियां

बनारस के लोग खरीद रहे ऑनलाइन सब्ज़ियांगाँव कनेक्शन

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में इन दिनों व्यापार का चलन भी बदल रहा है। बनारस के इस बदलते व्यावसायिक ट्रेंड में प्रधानमंत्री के स्टार्ट अप इंडिया और मेक इन इंडिया दोनों देखने को मिल रहा है। जहां एक ओर ऑनलाइन मार्केटिंग से बड़ी-बड़ी कंपनियां सामान बेच रहीं हैं, वहीं बनारस के तीन युवकों ने मिलकर अपनी वेबसाइट शुरु की है, जिससे न केवल आस-पास के गाँवों के किसानों को फायदा हो रहा है, बल्कि लोगों को भी घर बैठे ताज़ी सब्जियां मिल रही हैं।

वाराणसी के लहुराबीर के रहने वाले अमित चौबे (23 वर्ष) एमसीए करने के बाद दूसरे युवाओं की तरह कई कंपनियों में इंटरव्यू के लिए गए, लेकिन कहीं भी मन नहीं लगा। अमित बताते हैं, ''कई कंपनियों में इंटरव्यू देने के बाद ऐसे ही एक दिन गुजरात की एक वेबसाइट देखी, वहीं से मुझे आईडिया आया और मैंने अपने दो और दोस्तों आशूतोष गुप्ता और राकेश कुमार त्रिपाठी से बताया। हम तीनों ने मिलकर बनारसीसब्जीडॉटकॉम की शुरुआत पिछले माह 22 जनवरी से की। आज हर दिन हमसे लगभग 250 लोग सब्जियां खरीदते हैं।’’

अमित चौबे ने एमसीए किया है तो उनके दोस्त आशूतोष गुप्ता (24 वर्ष) ने बीसीए की पढ़ाई की है और राकेश कुमार त्रिपाठी (32 वर्ष) ने एमए की पढ़ाई की है। व्यापार करने का ये तरीका वाराणसी में पहली बार देखने को मिल रहा है। खासतौर पर युवाओं के इस पहल से सब्जि़यों को सस्ते और आसान माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है।

सभी सब्जि़यों का दाम भी वेबसाइट पर रहता है, जिससे ग्राहक को किसी भी तरह की परेशानी ना हो। वेबसाइट पर फोन नंबर भी दिया गया है। ग्राहकों को दो घंटे के अंदर सब्जी पहुंचा दी जाती है। वेबसाइट के ग्राहकों को समय-समय पर सेल और ऑफर भी दिया जाता है। 120 रूपये से ज्यादा सब्ज़ी की खरीद पर कोई भी डिलवरी चार्ज नहीं है। 20 जनवरी से शुरू हुई banarasisabji.com को लोगों का अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। अब तक 250 नियमित ग्राहक इससे जुड़कर ऑनलाइन सब्ज़ी खरीद रहे हैं।

सीधे किसानों से खरीदते हैं सब्जियां

अमित और आशूतोष सीधे किसानों से ही हरी और ताजी सब्जियां खरीदते हैं। आशूतोष गुप्ता इस बारे में कहते हैं, ''हमारी वेबसाइट से किसानों को भी फायदा हो रहा हैं, व्यापारी किसानों से बहुत कम कीमत में सब्जियां खरीदते हैं। वहीं हम किसानों को सही दाम देते हैं।’’  आशूतोष आगे बताते हैं, ''जैसे आलू इस समय बाज़ार में सात रुपये में बिक रहा है, उसको व्यापारी किसान से तीन से चार रुपए में खरीदते हैं, वहीं हम छह रुपए में किसान से खरीदते हैं और ग्राहकों को आठ रुपये में घर तक पहुंचाते हैं।’’

वेबसाइट के माध्यम से खरीदारी करने वाले उपभोक्ताओं को ताजी सब्ज़ी मिले और उन्हें कोई शिकायत न हो इसलिए banarasisabji.com सीधे किसानों से संपर्क कर सब्जी खरीदता है। सीधे किसानों से सब्ज़ी लेने पर एक ओर जहां लोगों को ताज़ी सब्ज़ी मिलती है तो वहीं किसानों को मंडी का चक्कर नहीं लगाना पड़ता। इसके साथ ही किसानों को बिचौलियों से मुक्ति मिलती है।

बनारसी सब्ज़ी से जुड़े चिरईगाँव के किसान गुलाब कुमार (42 वर्ष) कहते हैं,  ''ये एक अच्छी पहल है, पहले सब्ज़ी बेचने मंडी जाना पड़ता था व्यापारियों से सही दाम नहीं मिलता था। अब वेबसाइट के माध्यम से हमें घर बैठे ही सही दाम मिल जाता है।’’

दूसरे युवाओं को भी मिल रहा है रोजगार

वेबसाइट के माध्यम से अब दूसरे युवाओं को भी काम मिल रहा है। अमित चौबे इस बारे में कहते हैं, ''हम दोनों का मकसद केवल व्यापार करना ही नहीं है बल्कि और भी ऐसे युवा जो नौकरी के लिए भटक रहे हैं उन्हें रोजगार उपलब्ध कराना है। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सांसद आदर्श ग्राम जयापुर गाँव में रोज़गार मेले का आयोजन किया था देश की बड़ी कंपनियां भी आयी थी उन कंपनियों के साथ हम लोग भी गये थे और वहां पर जयापुर के 25 युवाओं को अपनी कंपनी में काम करने के लिए चुना है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top