बोर्ड परीक्षा के लिए आईं पांच लाख उत्तर पुस्तिकाएं

बोर्ड परीक्षा के लिए आईं पांच लाख उत्तर पुस्तिकाएंगाँव कनेक्शन

एटा। जनपद को कोडेड उत्तर पुस्तिकाओं से राहत नहीं मिल सकी। यूपी बोर्ड परीक्षा इस बार भी कोड आधारित उत्तर पुस्तिकाओं पर होगी। इससे नकल पर अंकुश लगेगा। बोर्ड ने जिले में पांच लाख उत्तर पुस्तिकाएं भेजी हैं। जिनको कोडवार स्कूलों को वितरित किया जाएगा।

बोर्ड परीक्षा को लेकर माध्यमिक शिक्षा परिषद काफी सख्ती बरत रहा है। 18 फरवरी से शुरू होने वाली परीक्षाओं की तैयारियां चरम पर चल रही हैं। नकल के लिए प्रसिद्ध जिले में परीक्षाओं को नकलमुक्त कराने के लिए बोर्ड ने इस बार भी कोडेड कापियों पर परीक्षा कराने का फैसला किया है। इसके लिए कापियों की खेप भेज दी गई है। पिछले दिनों माध्यमिक शिक्षा परिषद ने प्रदेश के कुछ जिलों में कोड आधारित उत्तर पुस्तिकाएं न भेजने का आदेश जारी किया था। जिसमें जिले को भी शामिल किया गया था। बोर्ड के आदेश के बाद नकल माफियाओं और परीक्षार्थियों ने राहत महसूस की थी। 

जिले के 91 हजार से ज्यादा परीक्षार्थियों के लिए पांच लाख उत्तर पुस्तिकाएं भेजी गई हैं। जिनमें इंटरमीडिएट की अ श्रेणी की 1.5 लाख, ब श्रेणी की 40 हजार उत्तर पुस्तिकाएं शामिल हैं। वहीं हाइस्कूल के परीक्षार्थियों के लिए अ श्रेणी की 2.5 लाख और ब श्रेणी की 70 हजार उत्तर पुस्तिकाएं भेजी गई है। उत्तर पुस्तिकाओं पर स्कूलवार विशेष कोड अंकित किया गया है। जोकि परीक्षार्थियों को सीटिंग प्लान और अनुक्रमांक के जरिए वितरित की जाएंगी। इस व्यवस्था के बाद न तो कोई कापी बदली जा सकेगी और न ही कापी गुम होगी। विभाग ने कापियों को विशेष सुरक्षा के साथ स्ट्रांग रूम में रखवा दिया है। जिनको जल्द ही स्कूलों को वितरित किया जाएगा। वहीं केंद्र व्यवस्थापक को परीक्षा के बाद हर कापी का कोड अंकित करना पड़ेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार गिरि ने बताया, ''उत्तर पुस्तिकाएं आ गई हैं, जिनको सुरक्षित तरीके से रखवाया गया है। कोडेड कापियों से नकल पर काफी हद तक अकुंश लगेगा।"

रिपोर्टिंग - बबिता जैन 

Tags:    India 
Share it
Top