बुरी खबर : और भी ज्यादा महंगी हो सकती हैं दालें

बुरी खबर : और भी ज्यादा महंगी हो सकती हैं दालें

लखनऊ| भारत में इंपोर्टेड दाल की सबसे ज्यादा खेप भेजने वाले देश कनाडा में साल 2015-16 के दौरान दलहन की कीमतों में बढ़ोतरी का अनुमान लगाया गया है जिस वजह से कनाडा से भारत इंपोर्ट होने वाले दलहन की कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।

भारतीय कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2014-15 में देश में 40 लाख टन से ज्यादा दलहन का आयात हुआ है और इसमें से सबसे ज्यादा करीब 55 फीसदी यानि 21.95 लाख टन का आयात अकेले कनाडा से ही हुआ है।

एग्रीफूड कनाडा यानि एएएफसी की रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त से शुरू हुए फसल सीजन 2015-16 के दौरान कनाडा में अधिकतर दलहन की फसलों के उत्पादन में कमी के कारण कीमतों में बढ़ोतरी का अनुमान लगाया गया है।

मटर 18% महंगा होने की आशंका

एएएफसी की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक कनाडा में मटर का भाव में बढ़ने की आशंका है, दो महीने पहले जारी हुई एएएफसी की रिपोर्ट में साल 2015-16 के लिए मटर का औसत भाव 13,892 रूपए प्रति टन रहने का अनुमान लगाया गया था लेकिन शुक्रवार को जारी हुई रिपोर्ट में साल 2015-16 के लिए मटर का औसत भाव 16,125 रूपए प्रति टन रहने का अनुमान जारी किया गया है।

दरअसल साल 2015-16 के दौरान कनाडा में मटर का उत्पादन घटने की आशंका है जिस वजह से भाव में तेजी का अनुमान जारी हुआ है। ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2015-16 के दौरान मटर का उत्पादन करीब 23 फीसदी घटकर 29.21 लाख टन होने का अनुमान है जो साल 2014-15 में 38.10 लाख टन हुआ था। जुलाई की रिपोर्ट में साल 2015-16 के लिए मटर उत्पादन का अनुमान 32.50 लाख टन था।

मसूर 30% महंगा होने का अनुमान

एएएफसी की ताजा रिपोर्ट में मसूर का भाव करीब 30 फीसदी बढ़ने का अनुमान जारी किया गया है। एएएफसी के मुताबिक साल 2015-16 के दौरान कनाडा में मसूर का औसत भाव 38,700 रूपए प्रति टन रहने का अनुमान है, इससे पहले जुलाई की रिपोर्ट में यह भाव 31,258 रूपए प्रति टन रहने का अनुमान जारी किया गया था।

मसूर का भाव बढ़ने के पीछे भी घटा हुआ उत्पादन ही वजह माना जा रहा है। एएएफसी के मुताबिक साल 2015-16 के दौरान कनाडा में मसूर का उत्पादन 20.83 लाख टन रह सकता है, इससे पहले जुलाई की रिपोर्ट में उत्पादन अनुमान 22 लाख टन था। हालांकि पिछले साल के मुकाबले इस साल मसूर का ज्यादा उत्पादन हो सकता है, साल 2014-15 के दौरान कनाडा में मसूर का उत्पादन 19.87 लाख टन हुआ है।

चने का भाव भी 24% महंगा होने की आशंका

एग्रीकल्चर एंड एग्री फूड कनाडा की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2015-16 के दौरान चने के भाव में जोरदार उछाल आने की आशंका है, जुलाई की रिपोर्ट में एएएफसी ने कहा था कि 2015-16 के लिए चने का औसत भाव 25,552 रूपए प्रति टन रह सकता है लेकिन शुक्रवार को जारी हुई रिपोर्ट में कहा गया है कि चने का औसत भाव 31,258 रूपए प्रति टन रह सकता है। यानि पिछली रिपोर्ट के मुकाबले भाव में 24 फीसदी की बढ़ोतरी का अनुमान जारी किया गया है।

कनाडा में अन्य दलहन के साथ इस साल चने के उत्पादन में भी गिरावट आने की आशंका जताई जा रही है। एएएफसी के मुताबिक साल 2015-16 के दौरान कनाडा में चने का उत्पादन घटकर सिर्फ 90,000 टन रह सकता है जो साल 2014-15 के दौरान 1.31 लाख टन और साल 2013-14 के दौरान 1.77 लाख टन हुआ है।

Tags:    India 
Share it
Top