चीन के दबाव में भारत ने रद्द किया डोल्कन ईसा का वीज़ा

चीन के दबाव में भारत ने रद्द किया डोल्कन ईसा का वीज़ा

नई दिल्ली (भाषा) भारत ने आज चीन के बागी नेता डोल्कन ईसा का वीजा रद्द कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक़ ईसा के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस है इसलिए ये वीजा रद्द किया गया। हालांकि खबर ये भी है कि चीन के विरोध के बाद भारत ने वीजा रद्द करने का फैसला लिया। चीन के इस बागी नेता को धर्मशाला में आयोजित होने वाले सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए भारत आना था और चीन में लोकतांत्रिक परिवर्तन पर चर्चा में शामिल होना था। 

वर्ल्ड उइगर कांग्रेस (डब्ल्यूयूसी) के नेता डोल्कन ईसा जर्मनी में रहते हैं। ईसा को अमेरिका स्थित ‘इनीशिएटिव फॉर चाइना’ द्वारा आयोजित सम्मेलन में आमंत्रित किया गया था। डोल्कन को वीजा देने की खबरों पर चीन ने नाख़ुशी ज़ाहिर की थी। चीन का कहना था कि डोल्कन इंटरपोल रेड कार्नर नोटिस और चीन पुलिस के मुताबिक़ एक आतंकवादी हैं।

क्या है वर्ल्ड उइगर कांग्रेस

वर्ल्ड उइगर कांग्रेस चीन से निर्वासित उइगुर मुसलमानों का एक संगठन है और चीनी नेताओं का मानना है कि उइगुर नेता मुसलमानों की बहुसंख्या वाले शिनजियांग प्रांत में आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं। चीन सरकार ने 1990 के दशक में शिनजियांग प्रांत में बम धमाकों की घटनाओं के लिए बार-बार ईसा की तरफ उंगली उठाई है और वर्ल्ड उइगर कांग्रेस को वो एक पृथकतावादी संगठन मानते हैं जबकि उइगुर लोग चीनियों पर उनके अधिकारों का दमन करने का आरोप लगाते हैं।  

Tags:    India 
Share it
Top