डॉक्टरों की कमी से मरीजों का नहीं हो पा रहा इलाज

डॉक्टरों की कमी से मरीजों का नहीं हो पा रहा इलाजgaonconnection

लखनऊ। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की कमी मरीजों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। बारिश का मौसम होने से अस्पताल में मरीज बढ़ने लगे हैं, लेकिन डॉक्टरों की कमी के कारण मरीज इलाज के लिए परेशान हो रहे हैं।

माल के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पांच डॉक्टर हैं, लेकिन पांच में सिर्फ दो डॉक्टर ही अस्पताल में आते हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में रोज 400 से अधिक मरीज आते हैं, लेकिन दो डॉक्टर होने से कतार में खड़े रहकर बारी आने का घंटों इंतजार करना पड़ता है और अगर दो बज गया तो डॉक्टर मरीज का इलाज करना बन्द कर देते हैं और कहते है कि कल आना।

जिला मुख्यालय से 45 किमी. दूर माल ब्लॉक में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टर की पूरी टीम में पांच डॉक्टर हैं, लेकिन उनमें से सिर्फ दो डॉक्टर ही मरीजों को देखने के लिए आते हैं। जिससे  मरीजों को इलाज करवाने के लिए लम्बी लाइनों में खड़ा होना पड़ता है। दो बजते ही डॉक्टर मरीजों को देखना बन्द कर अपने घर चले जाते हैं, जिससे मरीजों को प्राइवेट डॉक्टरों का सहारा लेना पड़ता है।

बारिश होने से बढ़ रहे मौसमी मरीज

बारिश रुकने के बाद सर्दी, खांसी और बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। रोज तीन सौ से चार सौ तक मरीज अस्पताल में इलाज करवाने पहुंच रहे हैं। अस्पताल में केवल दो डॉक्टर होने से मरीजों की कतार कई बार अस्पताल के बाहर तक पहुंच जाती है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top