देश भर में 1 लाख से अधिक योग कार्यक्रमों और 10 मेगा समारोहों का होगा आयेजन

देश भर में 1 लाख से अधिक योग कार्यक्रमों और 10 मेगा समारोहों का होगा आयेजनgaonconnection

नई दिल्ली। 21 जून को ‘अंतरराष्ट्री य योग दिवस’ के मौके पर नेहरु युवा केंद्र संगठन (एनवाईकेएस) एक दर्जन से अधिक विख्याित सामाजिक संगठनों के सहयोग से देश भर में अलग-अलग केंद्रों पर 1,00,260 योग कार्यक्रमों का आयोजन करेगा। इनमें से 10 क्षेत्रीय स्तलर के मेगा समारोहों की मेजबानी वाराणसी, इम्फाकल, जम्मू , बड़ोदरा, लखनऊ, वेगलुरु, विजयवाड़ा, भुवनेश्वरर, शिमला और होशियारपुर के बड़े नगरों द्वारा की जाएगी। मुख्य‍ कार्यक्रम चंडीगढ़ में आयोजित किया जाएगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी भाग लेंगे।

एक संवाददाता सम्मेएलन को संबोधित करने के दौरान केंद्रीय पूर्वोत्त़र क्षेत्र विकास राज्यी मंत्री (स्वदतंत्र प्रभार), युवा मामले और खेल राज्यय मंत्री (स्ववतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यलय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा एवं अंतरिक्ष राज्यय मंत्री डॉ. जितेन्द्रर सिंह ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि युवा मामले विभाग एवं सभी संबद्ध युवा शाखाओं ने संभवत: पहली बार एक ही दिन में एक ही विषय पर भारत के सभी हिस्सोंं में आबादी के संभवत: सबसे बड़े हिस्सेम को शामिल करने के लिए एक महान पहल की शुरूआत की है।

डॉ. जितेन्द्र  सिंह ने कहा कि देश भर में 1 लाख से अधिक योग कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा और ऐसे कार्यक्रमों में से 250 का आयोजन जिला मुख्यांलयों में किया जाएगा और 1 लाख योग कार्यक्रमों का आयोजन ग्रामीण स्त2र पर वहां के स्थामनीय युवा क्ल बों के सहयोग से किया जाएगा। इसके अतिरिक्तय, डॉ. जितेन्द्र् सिंह ने जानकारी दी की उनका मंत्रालय देश भर में 391 विश्व।विद्यालयों, 16 हजार महाविद्यालयों एवं 12 हजार विद्यालयों में योग दिवस कार्यक्रमों का आयोजन करेगा। 

डॉ. जितेन्द्रग सिंह ने बताया कि स्थांनीय स्त्र के मेगा समारोहों के 10 स्थाआनों पर पिछले चार-पांच दिनों से लगातार योग अभ्यागस प्रत्ये क केंद्र पर पहले ही लगभग 500 प्रशिक्षकों द्वारा संचालित किया जा रहा है। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्रभ मोदी की मार्ग दर्शक भावना के अनुरूप, विभाग यह सुनिश्चित करने का प्रयास करेगा कि इन कार्यक्रमों में एक सर्व-समावेशी भागीदारी हो जिसमें एनसीसी (नेशनल कैडेट कॉर्पस), एनएसएस (नेशनल सर्विस स्की्म), पतंजलि, आर्ट ऑफ लीविंग, भारतीय योग संस्थायन, ब्रह्म कुमारी एवं अन्यए सभी संबंधित संगठनों की सहभागिता हो।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top