क,ख, ग, घ की बजाए दे रहे विशेष धर्म की शिक्षा 

क,ख, ग, घ की बजाए दे रहे विशेष धर्म की शिक्षा प्रतीकात्मक फोटो

तिरुवनंतपुरम(भाषा)। छात्रों को कथित रूप से आपत्तिजनक चीजों और विशेष धर्म के लिए अपना प्राण न्योछावर करने का उपदेश देने के सिलसिले में कोच्चि के एक स्कूल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस को संदेह है कि पाठ्यक्रम विवादित उपदेशक जाकिर नाइक के करीबी लोगों ने तैयार किया है।

एर्नाकुलम के थम्मानम में स्थित पीस इंटरनेशनल स्कूल का संचालन कुछ ‘‘प्रभावशाली स्थानीय व्यावसायियों'' के नेतृत्व वाला एक न्यास करता है। पुलिस सूत्रों ने कहा कि पुलिस ने स्कूल प्राचार्य, प्रशासन और तीन ट्रस्टी के खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए और 34 के तहत मामला दर्ज किया है।

मामला एर्नाकुलम जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा दायर एक रिपोर्ट के आधार पर दर्ज किया गया, जिसमें कहा गया था,‘‘वहां जो पढ़ाया जा रहा, वह धर्मनिरपेक्ष नहीं है.'' सूत्रों ने कहा, ‘‘पाठ्यक्रम में छात्रों को आपत्तिजनक चीजें पढ़ाने के लिए यह मामला दर्ज किया गया....जो कि धर्मनिरपेक्ष नहीं है। विशेष धर्म का पाठ्यक्रम पढ़ाया जा रहा है और छात्रों को विशेष धर्म के लिए अपने प्राण न्योछावर करने का आह्वान किया जा रहा है।" स्कूल में एलकेजी से लेकर आठवीं कक्षा तक की पढ़ाई होती है।

सूत्रों ने कहा, ‘‘हमें संदेह है कि स्कूल का पाठ्यक्रम विवादित उपदेशक जाकिर नाइक के करीबी लोगों ने तैयार किया है जो मुंबई में रहने वाले इस्लामिक इंटरनेशनल स्कूल से जुड़े हैं.'' अब्दुल राशिद ने स्कूल के जनसंपर्क अधिकारी के तौर पर काम किया था। राशिद केरल के उन 21 लोगों में शामिल है, जो लापता हैं और जिनके आईएसआईएस से जुड़े होने का संदेह है। उसकी पत्नी स्कूल में शिक्षिका थी। आतंकी संगठन से संबंधों के संदेह को लेकर हाल में केरल में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.